जानिए,क्या है मोदी और राहुल के फिट रहने का राज!

  • जानिए,क्या है मोदी और राहुल के फिट रहने का राज!
You Are HereNational
Monday, March 31, 2014-6:37 PM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा प्रत्याशी नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपनी-अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के लिए लगातार चुनाव प्रचार में जुटे हुए है। 63 वर्षीय  नरेन्द्र  मोदी अभी भी शारीरिक रूप से फिट है। दूसरी तरफ राहुल  गांधी भी अपने आप को तंदरुस्त रखे हुए है। मोदी के सहायकों ने कहा है कि भाजपा नेता नियमित रूप से योगा करते है कि जिनकी बदौलत वह खुद को तंदरुस्त रखे हुए है और लगातार चुनावी भागदौड़ में रैलियों सम्बोधित कर रहे है। राहुल गांधी भी अपनी ऊर्जा शाम की दौड़ से प्राप्त करते है वह जापानी मार्शल आर्ट्स आईकीडो का भी सहारा लेते है। दोनों प्रतिद्विद्वयों प्रतिदिन 2 से 3 स्थानों पर रैलियों को सम्बोधित करते है और इसके लिए खुद को फिट रखते है। अच्छी खुराक और तंदरुस्त रहने वाले नेताओं का चुनावों के दौरान दिनचर्या डगमगा जाता है मगर ये नेता अपनी दिनचर्या को बनाए रखते है। चुनावों के दौरान लम्बे चुनाव अभियान से काफी थकावट हो जाती है।

राहुल और मोदी के अलावा अरविंद केजरीवाल भी चुनाव रैलियों को सम्बोधित कर रहे है। केजरीवाल ने अपनी ऊर्जा बनाने के लिए लम्बी यात्रा करते है और बड़े-बड़े भाषण देते है।  मोदी सुबह 5 बडज उठते है और एक घंटा तक योगा करते है वह दिन भर के अपने कार्यक्रम को तैयार करने के लिए ध्यान लगाने के सत्र पर बैठने से पूर्व खबरें सुनते है अऔर पढ़ते है। मोदी अपने गले का बहुत ध्यान रखते है गर्मियों में भी वह कम गर्म पानी पीते है। चुनाव अभियान के दौरान उनकी टीम द्वारा तैयार खाना ही वह खाते है। मोदी से 20 वर्ष युवा राहुल ने कांग्रेस के चुनाव प्रचार की बागडोर सम्भाले हुई है वह अपनी शाम की दौड़ के पाबंद है। वह जहां भी चुनाव प्रचार के दौरान ठहरते है वहीं पूर्व आयोजित रोड पर दौड़ लगानी शुरू कर देते है। चाहे वह ग्राम ही क्यों न हो। जह वह दिल्ली में होते है तो वह अपने आरकीडो का सबक याद करते है वह तैरने के लिए भी जाते है और साइकलिंग भी करते है। वह नूडल्स पसंद करते है दिन के दौरान हलका भोजन लेते है। वह निंबु पानी रका इस्तेमाल करते है और चाकलेट उनकी ऊर्जा को बढ़ाता है।

राजनीतिक में नए नेता के रूप में प्रवेश करने वाले आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल का राजनीतिक जीवन भी अजीबो गरीब है। वह काम के लिए लम्बी यात्रा करते है। दिसम्बर में दिल्ली के चुनाव में सफल अभियान के दौरान उनकी पत्नी द्वारा दिया गया लंच बाक्स साथ ले जाते थे। केजरीवाल अपने दिन की शुरूआत योगा और ध्यान लगाने से करते है वह घर से ही अपना खाना ले जाते है। जब वह चुनाव अभियान करने जाते है तो उनके समर्थकों द्वारा पेश किए गए भोजन को वह इंकार नहीं करते।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You