बदसलूकी मामला: नगमा ने पुलिस से अतिरिक्त सुरक्षा मांगी

  • बदसलूकी मामला: नगमा ने पुलिस से अतिरिक्त सुरक्षा मांगी
You Are HereUttar Pradesh
Tuesday, April 01, 2014-3:10 PM

नई दिल्ली: अपने चुनाव अभियान के दौरान बदसलूकी की कई घटनाओं के मद्देनजर मेरठ से कांग्रेस प्रत्याशी अभिनेत्री नगमा ने अतिरिक्त पुलिस सुरक्षा की मांग की है। नगमा ने एक दिए इंटरव्यू में कहा ,‘‘ मुझे अतिरिक्त पुलिस सुरक्षा चाहिए क्योंकि यहां भीड़ में काफी परेशानी हो रही है। मेरे पास निजी सुरक्षा है और वे मेरा ख्याल रख सकते हैं। लेकिन भीड़ को नियंत्रित कौन करेगा। यहां चुनाव अभियान के दौरान भारी संख्या में लोग उमड़ रहे हैं और यदि कोई अप्रिय घटना होती है तो कौन जिम्मेदार होगा। जेब कटने और मोबाइल चोरी होने की भी काफी घटनाए हो रही हैं।’’

 

यह पूछने पर कि क्या उन्होंने इस संबंध में किसी अधिकारी से बात की है, उन्होंने कहा ,‘‘पिछले सप्ताह की घटना के बाद उन्होंने पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई है लेकिन वह समय सीमा के भीतर है और नाकाफी भी है। मुझे और पुलिस सुरक्षा की जरूरत है।’’ मेरठ में आए दिन नगमा को ऐसे हालात का सामना करना पड़ रहा है। पिछले सप्ताह एक चुनावी रैली के दौरान बेहद करीब आने की कोशिश करने वाले एक युवक को उन्हे थप्पड़ जडऩा पड़ा था। उस घटना के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि यह उन्हें भगाने पर आमादा विरोधियों की चाल हो सकती है।

 

उन्होंने कहा,‘‘ वह बैठक रात को थी और शाम के बाद कई इलाकों में लोग नशे में धुत होते हैं। यहां दिन में भी अपराध का ग्राफ काफी उंचा है और यह देखना भी जरूरी है कि रैली किस इलाके में थी। वह मेरे विरोधी प्रत्याशी का गढ है और हो सकता है कि वह बैठक में बाधा पहुंचाने के लिए ऐसा कर रहे हों। कुर्सियां तोडऩा, मुझे धक्का देना या जबरन छूने की कोशिश करना ताकि मैं बोल ना सकूं।’’ नगमा का सामना भाजपा के मौजूदा सांसद राजेंद्र अग्रवाल और सपा के शाहिद मंजूर से है। यह पूछने पर कि क्या सेलिब्रिटी होने का उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ रहा है, उन्होंने ना में जवाब दिया।

 

उन्होंने कहा ,‘‘ हर कोई वैसा नहीं है। सेलिब्रिटी होने के सकारात्मक और नकारात्मक दोनों पहलू है। मुझे बदले में लोगों का प्यार भी मिल रहा है।’’ यह पूछने पर कि क्या स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं से उन्हें सहयोग मिल रहा है, उन्होंने कहा ,‘‘ फिलहाल मैं सिर्फ लोगों से मिल रही हूं । मेरे पास यह सोचने का समय नहीं है कि कौन मेरे साथ है और कौन नहीं।’’ बाहरी उम्मीदवार होने के आरोप पर उन्होंने कहा ,‘‘ यदि मैं मेरठ में बाहर उम्मीदवार हूं तो नरेंद्र मोदी वाराणसी में, सुषमा स्वराज विदिशा में और एल के आडवाणी गांधीनगर में क्या हैं।’’ उन्होंने मोदी लहर को खारिज करते हुए कहा कि एनडीए का योगदान देश के लिये सिफर रहा है।

 

उन्होंने कहा ,‘‘ मेरा विश्वास काम में है और एनडीए ने देश के लिए कोई काम नहीं किया। वे हवाई बातें करते हैं जबकि कांग्रेस मनरेगा, खाद्य सुरक्षा बिल, लोकपाल, आरटीआई जैसी योजनाएं लेकर आई। भाजपा एक डूबता जहाज है और उन्हें लगा कि इन हालात में मोदी ही पार लगा सकते हैं जो कट्टरपंथी हैं लेकिन भारत में कट्टरवाद चलता नहीं है।’’ मेरठ के लिए अपनी प्राथमिकताओं के बारे में उन्होंने कहा ,‘‘ हाईकोर्ट की बेंच का मामला लंबे समय से चल रहा है। इसके अलावा मैं बुनाई मिल, खेल उद्योग के विकास और शहर को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने पर काम करूंगी।’’

 

अपने अभिनय कैरियर के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे 2004 और 2009 में भी चुनाव लडऩे की पेशकश की गई थी लेकिन मैं अभिनय में व्यस्त थी। इस बार मैने सोच समझकर चुनावी राजनीति में उतरने का फैसला किया है क्योंकि मेरी प्राथमिकतायें बदल गई हैं।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You