इंटरनेट बेबी विज्ञापन मामले में एएससीआई के आदेश पर रोक

  • इंटरनेट बेबी विज्ञापन मामले में एएससीआई के आदेश पर रोक
You Are HereNational
Tuesday, April 01, 2014-6:45 PM

नई दिल्ली : दिल्ली उच्च न्यायालय ने इंटरनेट बेबी विज्ञापन के बारे में भारतीय विज्ञापन मानक परिषद एएससीआई के आदेश के कार्यान्वयन पर रोक लगा दी है। परिषद ने सिस्तेमा श्याम टेलीसर्विसेज से कहा था कि वह इस विज्ञापन का प्रसारण 7 अप्रैल के बाद नहीं करे। परिषद ने इस विज्ञापन को विशेषरूप से महिलाओं के प्रति अपमानजनक माना था। कंपनी का दावा है कि यह विज्ञापन उसकी इंटरनेट सेवाओं की स्पीड को दर्शाता है। न्यायाधीश मनमोहन ने एएससीआई के 24 मार्च 2014 के आदेश पर रोक लगा दी। अदालत ने केंद्र तथा एएससीआई को नोटिस जारी कर 12 अगस्त तक जवाब मांगा है जबकि वह इस पर दोबारा सुनवाई करेगा। सिस्तेमा श्याम का यह विज्ञापन उसकी इंटरनेट सेवा एमटीएस 3जी प्लस के लिए है। कंपनी ने अपनी याचिका में कहा था कि उसने इस विज्ञापन के निर्माण तथा प्रसार पर 40 लाख डालर की राशि खर्च की है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You