32% की राय भाजपा दे सकती है मजबूत सरकार

  • 32% की राय भाजपा दे सकती है मजबूत सरकार
You Are HereNational
Thursday, April 03, 2014-11:25 AM
नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेता बेशक भाजपा को सत्ता का लोभी बता रहे हैं लेकिन सच्चाई यह है कि दिल्ली की एक तिहाई जनता का मानना है कि भाजपा ही देश को मजबूत सरकार दे सकती है। यही नहीं सर्वे के दौरान एक तिहाई के करीब ऐसे लोग भी हैं जिनका कहना है कि इस पार्टी से उनको कोई उम्मीद नहीं है।
 
वहीं कुछ लोगों का यह भी मानना है कि भाजपा ही मजबूत सरकार  देने में सक्षम है। साथ ही करीब एक चौथाई लोग यह मानते हैं कि भाजपा देश में विकास करेगी। जैसे कि मोदी ने गुजरात में किया है। सवाल जवाब के दौरान कुछ लोगों ने कांग्रेस के शासन में हुए घोटालों पर जमकर भड़ास निकाली। 
 
सर्वे में एक चौकाने वाली बात यह भी सामने आई है कि चुनाव को लेकर परिवार के सदस्यों की राय अलग-अलग है। यदि परिवार का मुखिया आज भी कांग्रेस की विचारधारा रखता है तो यह जरूरी नहीं कि परिवार के अन्य सदस्य उनसे सहमति रखते हों। महिलाओं और युवाओं की सोच इस बार एकदम बदली हुई दिखाई दे रही है। परिवार के सदस्यों की राय में साफतौर पर टकराव देखने को मिला। युवा मतदाताओं की सोच बदली है। उनका साफ कहना है कि ऐसी पार्टी को वोट देने से भला क्या फायदा जो विकास के काम करवाने के नाम पर घोटाले करती रहे।
 
इन युवाओं का कहना है कि दिल्ली में हुए कॉमनवैल्थ गेम्स इसकी जीती-जागती मिसाल है। गत वर्ष दिल्ली में छात्राओं के साथ हुई सामूहिक बलात्कार की वारदातों के घटित होने के बाद कामकाजी ही नहीं बल्कि गृहणियों की सोच में भी काफी बदलाव आया है। उनका कहना है कि प्याज नहीं मिलने या महंगी होने से घर में सब्जी बनाकर खाई जा सकती है लेकिन घर से बाहर निकलकर काम के लिए जानी वाली महिलाओं के साथ वारदात होने पर सरकारी अव्यवस्था की ही कमजोरी उजागर होती है।
 
इस सर्वे में इस बात का भी पता चला है कि महिलाओं में सरकार के प्रति काफी रोष है। उनका कहना है कि इस बार दूसरों को भी मौका दिया जाना चाहिए, यदि दूसरी सरकार भी बहन-बेटियों की इज्जत लूटने वालों के  खिलाफ सख्त कदम नहीं उठाती है या सरकार चलाने में सफल नहीं होती है तो फिर किसी और को सत्ता की चाबी सौंपी जानी चाहिए। 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You