भाजपा सत्ता के लिए लोगों की आंखों में धूल झोंकना चाहती है: सोनिया

  • भाजपा सत्ता के लिए लोगों की आंखों में धूल झोंकना चाहती है: सोनिया
You Are HereNational
Thursday, April 03, 2014-4:28 PM

सासाराम: कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए कहा कि जो लोग कल तक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ थे वे आज अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए धर्मनिरपेक्षता के मसीहा बन गये हैं। श्रीमती गांधी ने यहां सासाराम(सु0) संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी मीरा कुमार और काराकाट से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रत्याशी कांति सिंह के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ लोग समय-समय पर अपना चेहरा बदल कर जनता के बीच आते हैं और वैसे लोग जो कल तक भाजपा के साथ थे आज धर्मनिरपेक्षता के मसीहा बन गये हैं।

दरअसल वे अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के नेता बड़े-बड़े वादे कर जनता की आंखों में धूल झोकना चाहते हैं। उनकी नजर सिर्फ कुर्सी पर है और वह लोकतंत्र को मुट्ठी में रखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जो उनकी (भाजपा) विचारधारा को नहीं मानता है वह उसे देशभक्त नहीं मानते और जो गंगा-जमुनी तहजीब को मानता है उनकी नजर में वह देशभक्त नहीं है।

सोनिया गांधी ने भाजपा पर सत्ता पाने के लिए बड़ी-बड़ी बातें कर लोगों की आंखों में धूल झोंकने की मंशा रखने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि उसकी निगाह केवल कुर्सी पर है और उसे पाने के लिए भाई-भाई के बीच दीवारें खड़ी कर सकते हैं। बिहार में अपने पहले चुनावी दौरे के क्रम में लोकसभा अध्यक्ष और कांग्रेस उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में आज यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए सोनिया ने कहा कि आजकल भाजपा के नेता बड़ी-बड़ी बातें करते हैं। लोगों के आंखों में धूल झोंकना चाहते हैं। जैसे किसी राज्य का विकास सिर्फ उन्ही की वजह से हुआ है। उनसे पहले तो किसी ने कुछ किया ही नहीं।

 उन्होंने कहा कि असल में यह है कि कांग्रेस पार्टी ने आजादी के बाद से बिहार सहित अन्य राज्यों गुजरात के साथ भी प्रगति और विकास के कार्यों से आज भारत पूरी दुनिया में सिर उठाकर खड़ा है। सोनिया ने कहा कि कांग्रेस ने सामाजिक सद्भाव को कायम रखने के लिए लगातार संघर्ष किया है ताकि देश में शांति रहे और विकास हो। उन्होंने कहा कि शांति और बदलाव के बिना कोई देश तरक्की नहीं कर सकता। वे लोग यह नहीं समझते हैं जिनकी निगाह केवल कुर्सी पर है, जो कुर्सी पाने के लिए भाई-भाई के बीच दीवारें खड़ी कर सकते हैं।

सोनिया ने कहा कि और वे जो लोकतंत्र को अपनी मुठ्ठी में कैद करना चाहते हैं, जो चाहते हैं कि जो सब वही बोलें, जो ये चाहें और वह देखे जो ये दिखाएं और सभी वही करें, जो ये करें। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों का कहना यह है कि जो सिर्फ उनकी विचारधारा माने और सदियों से भारत की नींव रही गंगा-जमुनी विरासत में विश्वास करते हैं वे उनमें विश्वास करें। यह लोकतंत्र है और ‘ऐसे लोगों पर’ बिल्कुल विश्वास नहीं करना चाहिए।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You