उद्धव ठाकरे को अदालत से मिली बड़ी राहत

  • उद्धव ठाकरे को अदालत से मिली बड़ी राहत
You Are HereNational
Thursday, April 03, 2014-4:52 PM

मुंबई: स्वर्गीय बाल ठाकरे के संपत्ति के संबंध में उनके दूसरे पुत्र जयदेव की याचिका को आज बम्बई उच्च न्यायालय द्वारा रद्द किये जाने से उद्धव ठाकरे को राहत मिली है। उच्च न्यायालय के न्यायाधीश आर डी धानुका ने दोनो पक्षों की बात सुनने के बाद आज जयदेव ठाकरे की याचिका को खारिज कर दिया। स्वर्गीय बाल ठाकरे के अलग रह रहे पुत्र जयदेव ठाकरे ने अदालत में याचिका दाखल कर आग्रह किया था कि पिता के वसीयत के लाभार्थियों को संपति को बेंचने पर रोक लगार्इ जाए। 

बाल ठाकरे के छोडी गर्इ वसीयत में लाभार्थियों में उद्धव ठाकरे भी हैं। जयदेव ठाकरे ने अपनी याचिका में कहा था कि बाल ठाकरे की संपत्ति के संबंध में जब तक अदालत का आदेश नहीं आता तब तब उसके उपयोग या बेंचने पर रोक लगायी जाए।

बाल ठाकरे का 17 नवंबर 2012 को निधन हो गया था और उन्होंने अपने वसीयत में 14.85 करोड रुपए की संपत्ति और बैंक नकदी की घोषणा की थी। जयदेव ठाकरे ने याचिका दाखिल कर कहा था कि संपत्ति के जिस मूल्य की घोषणा की गर्इ है वह गलत है जबकि सच्चाई यह है कि संपत्ति का असली मूल्य इससे कहीं अधिक है। जयदेव ठाकरे ने दावा किया कि बान्द्रा पूर्व में मातोश्री बंग्ले की कीमत ही 40 करोड़ रुपए अधिक की है।

 

 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You