नवरात्रि में इस अंधविश्वास को देख दंग रह जाएंगे आप

  • नवरात्रि में इस अंधविश्वास को देख दंग रह जाएंगे आप
You Are HereNational
Saturday, April 05, 2014-3:53 PM
मुरैना: जिले के प्रसिद्ध धर्मस्थल ‘मां दुर्गा बसैया’ मंदिर पर कल देर शाम बासंती नवरात्रि के पांचवे दिन एक विकलांग युवती ने ठीक होने की मंशा से अपनी जीभ काटकर चढ़ा दी और बेहोश हो गई। युवती द्वारा देवी मां को अपनी जीभ काटकर चढ़ाने से पहले ही मंदिर पर मौजूद श्रद्धालुओं ने उसे पकड़ लिया और पुलिसकर्मियों ने उसे इलाज के लिए यहां जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस के अनुसार उसने इस विकलांग युवती के खिलाफ आत्महत्या के प्रयास का प्रकरण कायम कर लिया है और उसके स्वस्थ्य होने के बाद उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि विकलांग युवती रिंकी सिंह निवासी मिरगापुर कल अपने गांव से सुप्रसिद्ध माता मंदिर ‘मां दुर्गा बसैया’ पर आई और मूर्ति के सामने कुछ देर प्रार्थना करने के बाद अपने रूमाल में छिपाकर लाई गई ब्लेड से जीभ काट ली। उसके परिवारजनों ने बताया कि रिंकी ने नवरात्रि पर उपवास भी रखा था और किसी के यह कहने पर माता पर जीभ चढ़ाने से उसकी विकलांगता ठीक हो जाएगी, इस घटना को अंजाम दिया है।

उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि रिंकी ऐसा करने वाली है। उसने पूर्व नियोजित योजना के अनुसार अपने रूमाल में ब्लेड छिपा रखा था तथा इसी ब्लेड से माता की मूर्ति के सामने जीभ काट ली। इससे पहले कि वह मूर्ति पर जीभ चढ़ा पाती, वहां मौजूद श्रद्धालुओं ने उसे पकड़ लिया, इस बीच वह बेहोश हो गई।  मंदिर की सुरक्षा एवं श्रद्धालुओं के बीच व्यवस्था बनाने के लिए वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने तत्काल रिंकी को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका इलाज चल रहा है। वहीं, पुलिस ने भी उसके खिलाफ आत्महत्या के प्रयास का प्रकरण कायम कर लिया है।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You