लगभग एक तिहाई दिल्ली को मोदी से नहीं है कोई अपेक्षा

  • लगभग एक तिहाई दिल्ली को मोदी से नहीं है कोई अपेक्षा
You Are HereNational
Sunday, April 06, 2014-11:32 AM

नई दिल्ली : दिल्ली की जनता की दिली इच्छा है कि अब केवल कागजों में नहीं बल्कि दिल्ली के साथ-साथ देश का विकास हकीकत के धरातल पर होना चाहिए। भारत एक मजबूत राष्ट्र बने ताकि विकास के कामों को तेजी से गति मिल सके।

दिल्ली वाले जो भाजपा के पी.एम. इन वेटिंग नरेन्द्र मोदी के समर्थक हैं, वह उनसे विकास करने और मजबूत राष्ट्र बनाने की उम्मीद रखते हैं। दूसरी ओर दिल्ली के करीब एक तिहाई लोग न तो मोदी का समर्थन करते हैं और न ही उनको मोदी से कोई उम्मीद है।

नवोदय टाइम्स ने सातों संसदीय क्षेत्रों में जनता के बीच सर्वे कराया, जिसमें यह बातें निकलकर सामने आईं। मोदी से क्या चाहते हैं, यह सवाल लोगों से किया गया था, जो जवाब आए उनको 4 वर्गों में बांटा गया। पहला विकास करेंगे, भ्रष्टाचार मिटाएंगे, तीसरा मजबूत राष्ट्र बनाएंगे और चौथा कोई उम्मीद नहीं या कुछ नहीं चाहते। इसी आधार पर रिपोर्ट तैयार की गई।


लोगों का कहना है कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद दिल्ली में ही नहीं, अपितु पूरे राष्ट्र में विकास के काम तेजी से होंगे जिससे लोगों का जीवन-स्तर ऊंचा उठ सकेगा। सर्वे में शामिल लोगों की ऐसी चाह है कि वे भी दिल्ली ही नहीं बल्कि देश के सभी राज्यों में गुजरात मॉडल की तर्ज पर विकास के काम होते देखना चाहते हैं। हर सैक्टर में तेजी से विकास के काम हों, ताकि काम पाने की उम्मीद रखने वाले बड़ी संख्या में बेरोजगार युवकों को अपने पैरों पर खड़ा होने का सुअवसर प्राप्त हो सके।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You