सिख वोटों के धु्रवीकरण में लगे प्रत्याशी

  • सिख वोटों के धु्रवीकरण में लगे प्रत्याशी
You Are HereNational
Monday, April 07, 2014-2:48 PM

नई दिल्ली (अमित कसाना): लोकसभा चुनाव प्रचार अब अंतिम दौर में है। वेस्ट दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में सभी राजनीतिक पार्टिंयां खासकर सिख वोटरों को लुभाने में लगी हैं। वेस्ट दिल्ली लोकसभा सीट पर कई सिख व पंजाबी बाहुल्य इलाके हैं, जो चुनाव में निर्णायक साबित हो सकते हैं। यह बात समझते हुए कोई भी पार्टी इस वोट बैंक को आसानी से छोडऩे के मूड में नहीं है। जैसे-जैसे मतदान का समय नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे इस वोट बैंक पर हर पार्टी अपनी पकड़ मजबूत करने में जुटी है।

कांग्रेस के लिए बल्ली तो भाजपा के लिए बादल चुनावी दंगल में कांग्रेस पार्टी ने जहां दिल्ली सिख गुरूद्वारा प्रबंधन कमेटी के पूर्व अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना व गत विधानसभा में भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए भाजपा के पश्चिमी दिल्ली में एकमात्र सिख चेहरे हरशरण सिंह बल्ली को चुनाव प्रचार के लिए उतारा है।वहीं, भाजपा में पंजाब के डिप्टी सी.एम. सुखबीर सिंह बादल समेत पंजाब के कई मंत्री मैदान में हैं। वहीं, आप पार्टी का तो प्रत्याशी खुद सिख है। ऐसे में सिख राजनीति यहां गरमा गई है।


4 विधानसभा सिख और  पंजाबी बहुल

वेस्ट दिल्ली लोकसभा सीट की सिख व पंजाबी बहुल विधानसभाओं पर नजर डालें तो यहां राजौरी गार्डन, हरिनगर, तिलक नगर, व जनकपुरी विधानसभा में इन दोनों से संबंधित लोग रहते हैं। वहीं, इनमें से राजौरी व जनकपुरी में आकाली समेत भाजपा के विधायक हैं और हरिनगर, तिलक नगर में आप के विधायक हैं। गत विधानसभा चुनाव के बाद इन इलाकों में आप का जनाधार पहले से कम हुआ है, वहीं वर्तमान में तीनों पार्टियों का चुनाव प्रचार त्रिकोणत्रीय मुकाबले की ओर इशारा कर रहा है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You