बसपा, भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे का मुकाबला

  • बसपा, भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे का मुकाबला
You Are HereMadhya Pradesh
Monday, April 07, 2014-5:38 PM

रीवा: मध्यप्रदेश के विंध्य क्षेत्र की प्रमुख संसदीय सीट रीवा पर पिछले लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी त्रिकोणीय संघर्ष होने की संभावना है। तीनों ही प्रमुख दलों के प्रत्याशी सीट पर कब्जा करने के लिए जबर्दस्त जनसंपर्क में जुटें हुए हैं। वर्ष 2009 में हुए लोकसभा चुनाव में दोनों ही प्रमुख दलों के उम्मीदवारों को पटकनी देने वाले बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के वर्तमान सांसद देवराज सिंह पटेल को इस बार दोनों ही दलों के प्रत्याशियों से कड़ी चुनौतियों को सामना करना पड़ रहा है।

पिछले चुनाव में काफी नजदीकी मुकाबले में हारे कांग्रेस प्रत्याशी सुन्दरलाल तिवारी को इस बार भी कड़ी मेहनत करनी पड़ रही है। तिवारी वर्तमान में गुढ से विधायक है। वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी जनार्दन मिश्रा को संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के शासन में हुए भ्रष्टाचार महंगाई के साथ देश में चल रही मोदी लहर का भी फायदा मिलने से उनकी स्थित मजबूत दिख रही है।

हालांकि यह कह पाना कि चुनावी ऊंट किस कटवट ले सकता है, अभी संभव नहीं होगा। बसपा प्रत्याशी पटेल के पिछले पांच वर्षो के कार्यकाल से जिले की जनता खुश नहीं नजर नहीं आ रही है क्योंकि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान जनता के हितों के लिए कोई बड़ा काम नहीं किया है। इसके चलते उन्हें इस बार जनता को खुश करके वोट हथियानें के लिए बड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You