लड़की का अपहरण करने वाले चार आरोपियों को हुई सजा

  • लड़की का अपहरण करने वाले चार आरोपियों को हुई सजा
You Are HereNational
Monday, April 07, 2014-6:09 PM

नई दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने जबरन शादी करने के उद्देश्य से एक लड़की का अपहरण कर गलत तरीके से उसे बंधक बनाकर रखने के मामले में एक महिला और एक विकलांग व्यक्ति सहित चार आरोपियों को साढ़े तीन साल की जेल की सजा सुनाई है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश नरिन्दर कुमार ने दिल्ली निवासी रमेश और हरियाणा निवासी अरूणा गौतम, उसके बेटे राहुल और करण सिंह को जेल की सजा सुनाई है। करण सिंह के दोनों पैर कटे हुए हैं और उसने लड़की से शादी की योजना बनाई थी।

अदालत ने कहा कि अभियोजन ने साबित किया है कि रमेश 18 वर्षीय लड़की को जनवरी 2011 में एलएनजेपी अस्पताल से किसी बहाने से ले गया और फिर उसे अम्बाला में अरूणा के घर शादी के उद्देश्य से छोड़ दिया।

अदालत के मुताबिक अभियोजन ने साबित किया है कि अरूणा गौतम और राहुल ने रमेश के साथ मिलीभगत कर लड़की को गलत तरीके से बंधक बनाकर रखा।

जबकि वे जानते थे कि उसका अपहरण हुआ है और इसके बाद वह, अरूणा और उसके बेटे राहुल लड़की को करण के घर लेकर गए और उसकी मर्जी के बगैर उसे वहां करण के साथ शादी के उद्देश्य से छोड़ दिया।

करण ने गलत तरीके से उसे बंधक बनाकर रखा जबकि वह अच्छी तरह जानता था कि उसका अपहरण हुआ है और उसकी मर्जी के बगैर उसकी मंशा उससे शादी करने की थी ।

पुलिस के मुताबिक घटना 10 जनवरी 2011 की है जब लड़की और उसका दोस्त दिल्ली में शादी करने आए थे और उसका इलाज एलएनजेपी में कराना था।

रमेश ने अस्पताल से लड़की का उस समय अपहरण किया जब वह अकेले थी और अपने दोस्त से मुलाकात कराने के बहाने उसे ले गया और उसे लेकर अरूणा के घर अम्बाला चला गया ।

 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You