शार्ट फिल्मों के जरिए चुनाव प्रचार

  • शार्ट फिल्मों के जरिए चुनाव प्रचार
You Are HereNcr
Monday, April 07, 2014-10:06 PM

नई दिल्ली: दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौरान प्रत्याशियों के बीच आपसी चुनावी जंग तो ही रही है, वहीं भाजपा व कांग्रेस समर्थक चुनावी जंग को नया रंग देने में लगे हुए है।

समर्थकों ने पार्टी के प्रत्याशियों के समर्थन के लिए कई शार्ट फिल्मों को तैयार किया है। सभी बड़ी छोटी पार्टियां चुनाव प्रचार के लिए इसका बढ़- चढ़कर इस्तेमाल कर रही है।

खास तौर पर दक्षिणी दिल्ली के संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस, भाजपा व आप के बीच दिलचस्प मुकाबला हो रहा है। भाजपा प्रत्याशी रमेश बिधूड़ी के लिए जनसंपर्क अभियान का काम देखने वाली राधिका का कहना है कि लोकसभा चुनाव में सिर्फ बातों से काम नहीं चलता।

मतदाताओं के समक्ष अपनी बात को रखने के लिए ऐसे तरीकों को अगर न अजमाया जाए तो वे पार्टी की रणनीति को सही से समझ नहीं पाते।  इसलिए जरूरी है कि पहले समस्याओं को उजागर किया जाए और उसके समाधान की योजना को बताया जाए।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र की समस्याओं एवं उनके समाधान को दर्शाती 12 मिनट की फिल्म तैयार की है। फिल्म में दक्षिणी दिल्ली संसदीय क्षेत्र के कई ग्रामीण इलाकों की बिजली, पानी, सड़क, अस्पताल जैसी मूलभूत समस्याओं को दिखाया गया है।

ऐसा नहीं है कि इस फिल्मी वार में भाजपा अकेली है। कांग्रेस समर्थकों ने भाजपा से भी लंबी शार्ट फिल्म बनाई है। कांग्रेस के एक समर्थक कहते हैं कि जितना ज्यादा काम, उतनी लंबी फिल्म। कांग्रेस समर्थकों ने 18 मिनट की शार्ट फिल्म बनाई है।

इसमें कांग्रेस सांसद द्वारा किए गए विकास कार्यो को दिखाया गया है। जबकि आप पार्टी घर- घर प्रचार का रुख किया है। जो लोगों से मिलकर उनकी समस्याओं का न सिर्फ पता लगा रही है बल्कि इसके समाधान के रास्ते भी खोज रही है। 

 

 

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You