भाजपा का घोषणापत्र सांप्रदायिक एजेंडा: एंटनी

  • भाजपा का घोषणापत्र सांप्रदायिक एजेंडा: एंटनी
You Are HereNational
Wednesday, April 09, 2014-10:20 AM

तिरवनंतपुरम: कांग्रेस नेता और रक्षा मंत्री ए के एंटनी ने भाजपा के घोषणापत्र में पार्टी का 'संाप्रदायिक एजेंडा’ उजागर होने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे पर भाजपा का रख गंभीर चिंता का विषय है। उन्होंने चुनाव प्रचार के लिए निकलने से पहले संवाददाताओं से कहा, "भाजपा का घोषणापत्र और कुछ नहीं बल्कि रंगीन कागज में लिपटा उसका सांप्रदायिक एजेंडा है। यह देश की एकता और अखंडता के लिए खतरा है।" 

एंटनी ने कहा कि अनुच्छेद 370 पर फिर से बहस शुरू करने का भाजपा का कदम खतरनाक नतीजे वाला है जिससे उग्रवादियों और विभाजनकारी तत्वों को मदद मिलेगी। कांग्रेस नेता ने कहा, "खासतौर पर उस समय भी चिंता की बात है जब भारत अफगानिस्तान में हुए चुनाव के परिणामों का उत्सुकता से इंतजार कर रहा है। अगर वहां भारत विरोधी ताकतें सत्ता में आती हैं तो सीमा पर समस्या खड़ी हो सकती है। इस मौके पर जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे पर बहस शुरू करने से केवल उग्रवादियों को मदद मिलेगी।"

एंटनी ने भरोसा जताया कि नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने की स्थिति में भाजपा के खतरे से बचने के लिए धर्मनिरपेक्ष ताकतों की मदद से संप्रग तीसरी बार सत्ता में आएगी। उन्होंने कहा, "मुझे विश्वास है कि संप्रग एक बार फिर सत्ता में आएगा। जैसा कि 2004 और 2009 में हुआ था। धर्मनिरपेक्ष दल चुनावों के बाद सरकार बनाने के लिए कांग्रेस को सहयोग करेंगे, भले ही वे अभी कांग्रेस के साथ मुकाबले में हैं।"

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You