ऑटो चालक की मनमानी से परेशान आम जनता, न कोई स्टॉपेज, न स्टैंड, चलते-चलते कहीं भी ब्रेक

  • ऑटो चालक की मनमानी से परेशान आम जनता, न कोई स्टॉपेज, न स्टैंड, चलते-चलते कहीं भी ब्रेक
You Are HereChandigarh
Friday, November 25, 2016-8:53 AM

चंडीगढ़ (कुलदीप): न कोई स्टॉपेज, न स्टैंड, चलते-चलते कहीं भी ब्रेक या फिर यू टर्न लेना टोकने पर गाली गलोच, ऐसे ही हो रहा है इन दिनों चंडीगढ़ की सड़कों पर ,एक तरफ बढ़ती ट्रैफिक भी? ट्रैफिक लाइट की बढ़ती संख्या और ऊपर से ऑटो चालकों की मनमर्जी के कारण आम वाहन चालाक खासे परेशान है । ऑटो चालक जहां चाहे सवारियां उतारने व बिठाने लगते हैं जिन्हें न तो स्लीप रोड की परवाह है न ही पीछे आ रहे वाहनों की जिसके चलते आए दिन कई हादसे भी हो रहे हैं । ऑटो चालकों की दबंगई इस कदर है कि इन्होंने शहर केकई व्यस्त चौक को ही ऑटो स्टैंड बना दिया है। सड़कों की एक लेन पर तो इन्हीं का कब्जा रहता है, जिससे सड़कें संकरी हो गई हैं और जगह-जगह जाम की स्थिति रहती है। 

 

बात शहर के व्यस्त चौक आई.एस.बी.टी.-17  की करते है जहां पंजाब केसरी टीम ने नजर डाली। इस चौक पर हर मिनट बसों का आना-जाना रहने के साथ अन्य वाहनों की भी कतारें लगी रहती हैं। इसके बावजूद ऑटो चालक बस स्टैंड की तरफ डिवाडिंग रोड के साथ ही सवारियों को उतारते और चढ़ाते हैं। बत्ती बंद होने के चक्कर में तेजी से आ रहा वाहन कई बार ऑटो से टकराने से बमुश्किल बचता है। बस स्टैंड केसामने ही सेक्टर-22 की तरफ अंडर ब्रिज पर ऑटो चालकों का सड़क की एक लेन पर कब्जा रहता है। बसें भी यहीं आकर सवारी उतारती हैं। सिंगल लेन सड़क पर ट्रैफिक रेंग कर चलती है।

 

सैक्टर-17 ,22 ,21 और 18 के राऊंड अबाऊट पर सैक्टर 21 वाली साइड में भी अवैध  ऑटो स्टैंड बना है। यहां से ऑटो सैक्टर17 बस स्टैंड से आने वाले यात्रियों को जीरकपुर, बलटाना, सन्नी एन्क्लेव पहुंचाते हैं। बस स्टैंड केसामने सैक्टर-22 की तरफ तो ऑटो चालकों ने ऑटो स्टैंड का बोर्ड तक लगा दिया है। दावा नगर निगम द्वारा लगाए जाने का किया जा रहा है उपर लिखा भी एम.सी. ऑटो रिक्शा स्टैंड गया है।  सैक्टर-43 बस स्टैंड और जिला कोर्ट परिसर के सामने भी ऑटो का जमावड़ा रहता है। लोकल बस स्टैंड के एंट्रैंस पर ही ऑटो चालक सवारी उतारते हैं। कई बार तो बसों को बस स्टैंड में प्रवेश करने में दिक्कत होती है। वहीं कोर्ट परिसर के सामने रोड पर भी ऑटो की लाइन लगी होती है। इसकेअलावा सैक्टर-18 लाइट प्वाइंट पर रोज गार्डन की तरफ भी रात को ऑटो स्टैंड बन जाता है। हालांकि दिन में सख्ती के कारण यहां ऑटो नहीं रुकते। 

 

आटो चालक की लापरवाही से हुआ हादसा 
सैक्टर-45 में अक्तूूबर में एक शराबी ऑटो चालक की लापरवाही के कारण बाइक सवार की मौत हुई थी। हादसे में एक अन्य बाइक सवार भी गंभीर जख्मी हो गया था। दरअसल, ऑटो चालक चलत-चलते अचानक राइट टर्न मार गया जिसकी वजह से हादसा हुआ था। 


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You