संयुक्त राष्ट्र में अजहर को प्रतिबंधित किए जाने को लेकर अब भी आशान्वित

  • संयुक्त राष्ट्र में अजहर को प्रतिबंधित किए जाने को लेकर अब भी आशान्वित
You Are HereNational
Thursday, December 15, 2016-10:55 PM

नई दिल्ली : पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने पर चीन की ‘रोक’ की अवधि खत्म होने से पहले भारत ने कहा कि गेंद अब प्रतिबंध समिति के पाले में है और आशा जताई कि वह आखिरकार ‘तर्क’ पर विचार करेगी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने साथ ही कहा कि अजहर पर प्रतिबंध की मांग संबंधी भारत का आवेदन मार्च में जमा किया गया था और इसे संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया, जिसके 15 सदस्य हैं और जो सुरक्षा परिषद के भी सदस्य हैं। उन्होंने कहा कि गेंद उनके (समिति के) पाले में है और उम्मीद जताई कि इस तर्क पर गौर किया जाएगा कि मसूद अजहर जिस संगठन का प्रतिनिधित्व करता है वह कई वर्षों से प्रतिबंधित है।

चीन ने संयुक्त राष्ट्र द्वारा अजहर को प्रतिबंधित करने की भारत की पहल पर अक्तूबर में ‘तकनीकी रोक’ लगा दी थी जिसकी मियाद 31 दिसंबर तक है और अगर चीन आगे अपनी तरफ से आपत्ति नहीं प्रकट करता है तो अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने संबंधी प्रस्ताव स्वत: पारित हो जाएगा। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You