नोटबंदी की मार : कैशलैस मंडियां शुरू होने की नहीं दिख रही कोई संभावना, लग सकता है समय

  • नोटबंदी की मार : कैशलैस मंडियां शुरू होने की नहीं दिख रही कोई संभावना, लग सकता है समय
You Are HereChandigarh
Thursday, November 17, 2016-9:09 AM

चंडीगढ़(आशीष) : मार्कीट कमेटी की तरफ से शहर मे लगाई जा रही साप्ताहिक मंडियों में डैबिट और क्रैडिट कार्ड से सब्जी,फल व राशन खरीदने की सुविधा प्रशासन ने शुरू करने की योजना बनाई है। यह सुविधा बुधवार को शहरवासियों को नहीं मिल सकी व अब इसे वीरवार से शुरू किया जाएगा, इसकी भी कोई संभावना नहीं दिख रही है। प्रशासन ने 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद आ रही परेशानी के मद्देनजर यह फैसला लिया कि मंडियों मे सब्जी,फल व राशन खरीदने की सुविधा के लिए कैशलैस मंडियां योजना शुरू की जाएं। 

 

ए.डी.सी. राजीव गुप्ता ने इस बारे में एच.डी.एफ.सी. बैंक के अधिकारियों संग बैठक भी की। इसमें सभी दुकानदारों, किसानों और फड़ी वालों को स्वैपिंग मशीन देने का निर्णय लिया है। शहर में इस समय 7 जगह साप्ताहिक मंडियां लगती हैं। मंडियों पर सब्जियों के अलावा राशन बेचने के लिए फूड एंड सप्लाई विभाग को तैयार किया है। फूड एंड सप्लाई विभाग मनीमाजरा को-आप्रेटिव सोसायटी की मदद से राशन का सामान बेचेगी। यहां भी डैबिट और क्रैडिट कार्ड का इस्तेमाल होगा।

 

फूड एंड सप्लाई की राशन की मोबाइल वैन भी मंडी में ही खड़ी रहेगी। स्वैप मशीन बैंक के लिए किसानों और दुकानदारों को बैंक खाते खोलने को कहा है। साप्ताहिक मंडियों में डैबिट और क्रैडिट कार्ड से सब्जी, फल व राशन खरीदने के अलावा प्री पेड योजना को भी तैयार की जा रही है, जिसमें एच.डी.एफ.सी. की ओर स्टाल लगाए जाएंगे। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You