कांग्रेस सेना का मनोबल गिराना चाहती है : रक्षा मंत्री

  • कांग्रेस सेना का मनोबल गिराना चाहती है : रक्षा मंत्री
You Are HereNational
Friday, November 24, 2017-9:58 PM

अहमदाबाद: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को यह कहते हुए कांग्रेस पर प्रहार किया कि पार्टी सदैव ऐसे बयान देती रहती है जिससे ‘सेना का मनोबल गिरता है और उसका कद घटता है।’ उन्होंने इस बात पर अफसोस प्रकट किया कि सोनिया गांधी की अगुवाई वाली पार्टी अक्सर अलगाववादियों की भाषा बोलती है और उन लोगों का समर्थन करती है जो देश को बांटने की बात करते हैं।

रक्षामंत्री ने प्रधानमंत्री को निशाना बनाकर ‘चाय वाला ’ और मेमे मजाक को लेकर विपक्ष की निंदा की और कहा कि वह अतीत की गलतियों से सीख लेने में विफल रही। उन्होंने कहा, ‘‘आज, कांग्रेस अलगाववादियों की बोली बोल रही है और बड़े उत्साह से उनके साथ जुड़ती है। कांग्रेस उपाध्यक्ष जेएनयू के उन गुमराह युवकों का समर्थन करते हैं जो देश को टुकड़े करने की बात करते हैं।’’

निर्मला सीतारमण ने पी चिदम्बरम की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘‘वरिष्ठ कांग्रेस नेता (जम्मू कश्मीर के लिए) स्वायत्तता की पैरोकारी करते हैं और कहते हैं कि अलगाववादी स्वायत्तता की बात करते हैं न कि स्वतंत्रता की। वह आजादी की भिन्न परिभाषा देते हैं। जब वह (संप्रग सरकार में )गृहमंत्री थे तब उन्होंने कहा था कि सेना शांति प्रक्रिया के विरुद्ध है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘एक कांग्रेस नेता (संदीप दीक्षित) सेना प्रमुख को गली का गुंडा जैसा बताते हैं।

कांग्रेस सदैव सेना का मनोबल गिराने और सेना का कद गिराने पर तुली रहती है।’’ उन्होंने कहा कि मोदी को मुख्य विपक्षी दल ने अनावश्यक रुप से निशाना बनाया। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री, जो देश के लाभ के लिए काम करते हैं, पर खून की दलाली का आरोप लगाया और उन्हें चायवाला बताया। हर चुनाव से पहले कांग्रेस को (मोदी के खिलाफ बयान देकर) खुद को नुकसान पहुंचाने की आदत है। किसने कहा था कि मोदीजी मैं आपको चाय बेचने के लिए स्टॉल दूंगा। कांग्रेस फिर ‘तू चाय बेच’मेमे के साथ प्रधानमंत्री का अपमान कर रही है।’’  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You