निगम चुनाव : सर्मथकों में मारपीट, क्रॉस एफ.आई.आर. दर्ज

  • निगम चुनाव : सर्मथकों में मारपीट, क्रॉस एफ.आई.आर. दर्ज
You Are HereNational
Wednesday, December 14, 2016-9:42 PM

चंडीगढ़, (संदीप): कालोनी नंबर-4 में नगर निगम चुनावों को लेकर गर्माई राजनीति ने हिंसक रूप धारण कर लिया है। जिसके चलते मंगलवार रात कालोनी में कांग्रेस प्रत्याक्षी शशी शंकर तिवारी और आजाद उम्मीदवार छब्बू के सर्मथकों के बीच जमकर मारपीट हुई। यह झगड़ा कालोनी ही नहीं बल्कि सैक्टर-32 अस्पताल तक जारी रहा। तिवारी समर्थक परिवार ने उनकी बेटी के साथ छेड़छाड़ करने और विरोध करने पर पूरे परिवार के साथ मारपीट करते हुए उनके घर व वाहनों की तोडऩे के आरोप लगाए हैं, जबकि दूसरी तरफ से छब्बू सर्मथक ने भी आरोप लगाए हैं कि दूसरे पक्ष ने उनके साथ उनकी दुकान पर मारपीट की है। इंडस्ट्रीयल एरिया पुलिस ने घायलों का मैडीकल करवाए जाने के बाद दोनों पक्षों के खिलाफ क्रास मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

तिवारी समर्थक परिवार के आरोप:

कांग्रेस प्रत्याक्षी शशी शंकर तिवारी के समर्थक परिवार की तरफ से उनकी बेटी द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक वह मंगलवार रात के समय दुकान पर दूध लेने जा रही थी तो रास्ते में ही कुछ लोगों ने उनसे साथ बदतमीजी व छेड़छाड़ की। इस पर युवती ने अपने भाई अजय और परिवार के अन्य सदस्यों को जानकारी दी। जैसे ही अजय मौके पर पहुंचा तो छेड़छाड़ करने वाले युवकों ने अजय के साथ मारपीट शुरू कर दी और बाद में उनके घर में घुसकर तोडफ़ोड़ करते हुए उनके परिवार के अन्य सदस्यों से भी मारपीट की और जाते समय जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से फरार हो गए।

अस्पताल में भी परिवार के घायल सदस्यों पर किया हमला

तिवारी समर्थक परिवार का आरोप है कि उन्हें पुलिस सैक्टर-32 में उपचार के लिए ले गई थी, जिसके चलते वे अस्पताल में उपचाराधीन थे लेकिन इस दौरान भी दूसरे गुट के लोगों ने अस्पताल में आकर भी उनके साथ मारपीट की। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी तो सैक्टर-34 थाना पुलिस मौके पर पहुंची और उनकी शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।

छब्बू समर्थक का आरोप अजय ने दुकान पर आकर की थी मारपीट

आजाद उम्मीदवार छब्बू के समर्थक राकेश ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाए हैं कि अजय के परिवार ने उन पर गलत आरोप लगाए हैं। राकेश का कहना है कि वह रात के समय अपनी दुकान के पास खड़ा था कि इस दौरान अजय अपने अन्य साथियों के साथ आया और उनके साथ गाली-गलौच करने लगा। ऐसा करने पर जब राकेश ने उसका विरोध किया तो उसने अपने साथियों के साथ मारपीट की और जान से मारने की धमकी भी दी। राकेश ने बताया की सैक्टर-32 अस्पताल में भी उनके साथ मारपीट की गई।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You