बाबा रामदेव की जिंदगी के राज खोलने वाली किताब पर कोर्ट ने लगाया बैन

  • बाबा रामदेव की जिंदगी के राज खोलने वाली किताब पर कोर्ट ने लगाया बैन
You Are HereNational
Saturday, August 12, 2017-11:42 AM

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने एक प्रकाशक और दो ई कॉमर्स कंपनियों की कथित रुप से योगगुरु रामदेव के जीवन पर आधारित एक पुस्तक के प्रकाशन और बिक्री पर रोक लगा दी है। रामदेव ने पुस्तक में उन्हें बदनाम करने वाली सामग्री होने का आरोप लगाया है। 

अदालत ने प्रकाशक को बिना नोटिस जारी किये यह आदेश जारी किया। उसने कहा कि अंतरिम आदेश में देरी से उस उद्देश्य की पूर्ति नहीं होगी, जिसके लिए वाद दायर किया गया है।  अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश निपुण अवस्थी ने जगरनेट बुक्स को अगले आदेश तक के लिए ‘गॉडमैन टू टाइकून’ नामक इस पुस्तक का प्रकाशन एवं उसे बेचने से रोक दिया है। यह पुस्तक योगगुरु के जीवन पर आधारित है।  

न्यायाधीश ने कहा कि इस पुस्तक के कुछ अंशों को पढऩे के पश्चात इसे बस अटकलों एवं कहीसुनी बातों पर आधारित पाया गया तथा ऐसी पुस्तक प्रकाशित करने की अनुमति उनसे :रामदेव से: नहीं मांगी गयी।   प्रकाशक ने एक बयान जारी कर कहा कि उसे आदेश की प्रति मिल गयी है। उसने बयान में कहा, ‘‘हर व्यक्ति को अपनी शिकायत को लेकर अदालत में जाने का हक है और उस पर निष्पक्ष ढंग से फैसला होना चाहिए। इस मामले में मानहानि के आरोप पर अदालत में सुनवाई होनी चाहिए और हम अपनी पुस्तक का बचाव करने के लिए मिले मौके का स्वागत करते हैं। ’’ 

प्रकाशक ने इसे गंभीर पत्रकारिता बताया और कहा कि उसमें साक्षात्कारों, आलेखों, पुलिस रिपोर्ट, आरटीआई आवेदनों पर जवाबों जैसे स्रोतों पर नोट है और ये हर अध्याय के आधार हैं।  अदालत ने अमेजन इंडिया और फ्लिपकार्ट इंटरनेट प्राइवेट लिमिटेड को भी इस पुस्तक को ऑनलाइन बेचने से रोक दिया है और कहा कि खरीददारों को भेजी जाने वाली कोई भी लंबित डिलीवरी तत्काल रोक दी जाए।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You