डोकलाम विवादः नेपाल ने ठंडे बस्ते में डाला भारत का मिशन एेवरेस्ट

  • डोकलाम विवादः नेपाल ने ठंडे बस्ते में डाला भारत का मिशन एेवरेस्ट
You Are HereNational
Sunday, August 13, 2017-7:59 PM

नई दिल्लीः डोकलाम विवाद के चलते भारत का मिशन एेवरेस्ट प्रोजेक्ट अटक गया है। सर्वे ऑफ इंडिया दुनिया की सबसे ऊंची चोटी की लंबाई मापने के इस प्रॉजेक्ट को नेपाल के साथ मिलकर पूरा करना चाहता था लेकिन तनाव के इस माहौल में भारत के साथ किसी प्रॉजेक्ट में शामिल होकर शायद नेपाल चीन को 'नाराज' करने का जोखिम नहीं उठाना चाहता। यही वजह है कि उसने भारत के प्रस्ताव को ठंडे बस्ते में डाल दिया है। 

दरअसल, कई अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों ने चिंता जाहिर की थी कि 25 अप्रैल 2015 को नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप के चलते ऐवरेस्ट की ऊंचाई पर असर पड़ा है। इन चिंताओं के मद्देनजर सर्वे ऑफ इंडिया ने ऐवरेस्ट की ऊंचाई को फिर से मापने का फैसला किया था। 

1767 में स्थापित हुआ सर्वे ऑफ इंडिया अपनी 250 वीं वर्षगांठ के मौके पर प्रॉजेक्ट को पूरा करके इस मौके को यादगार बनाना चाहता था।

ऐवरेस्ट नेपाल और चीन की सीमा पर है। ऐसे में इस प्रॉजेक्ट में नेपाल का सहयोग लेना स्वाभाविक था। सर्वे ऑफ इंडिया ने नेपाल के विदेश मंत्रालय को इस सिलसिले में एक प्रस्ताव भेजा। वहीं, जानकार इसे नेपाल की भारत से बढ़ती दूरी और चीन से बढ़ती नजदीकी से जोड़कर भी देखा जा रहा है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You