बुक फेयर पर भी नोटबंदी का असर, पब्लिशर्स परेशान

  • बुक फेयर पर भी नोटबंदी का असर, पब्लिशर्स परेशान
You Are HereNational
Thursday, November 17, 2016-2:21 PM

चंडीगढ़ : नोटबन्दी का असर हर कही देखने को मिल रहा है। पीयू के बुक फेयर पर भी नोटबंदी के असर ने पब्लिशर्स की नींद उड़ाई हुई है। बुक फेयर के पहले ही दिन फेयर पर नोटबंदी का असर साफ दिखाई दिया। बुक पब्लिशर्स के अनुसार पिछले बुक फेयर में पहले ही दिन 7 से 8 हजार की किताबों की बिक्री हुई थी, लेकिन बुधवार को पहले दिन की औसत बिक्री 300 से 1000 रुपये तक सीमित रही।
 
हालांकि, इस बार पीयू एसी जोशी लाइब्रेरी की ओर से आयोजित बुक फेयर में 30 से अधिक देश विदेश के पब्लिशर्स पहुंचे हैं। मारीशियस से भी पब्लिशर्स पहुंचे हैं। 16 से 20 नवंबर तक पीयू एसी जोशी लाइब्रेरी के सामने ग्राउंड में बुक फेयर आयोजित किया गया है। 

फेयर में 3 खंड की रामायण हिंदी और परशियन भाषा में उपलब्ध है। बुक पब्लिशर्स के अनुसार पहले दिन लोग तो पहुंचे लेकिन खरीदारी काफी कम ने की। उधर कुछ पब्लिशर्स ने ऑनलाइन पेमेंट के लिए एसबीआई से स्वैप मशीन देने की मांग रखी। कई बुक बिक्रेताओं ने पेटीएम की सुविधा भी दी है। बुक फेयर में कई पब्लिशर्स 20 से 30 फीसदी तक डिस्काउंट भी दे रहे हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You