Subscribe Now!

VIDEO: बवाना आग में झुलसकर 17 की मौत, फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार

You Are HereNational
Sunday, January 21, 2018-12:52 PM

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बवाना औद्योगिक प्रक्षेत्र में आज शाम तीन फैक्ट्रियों में अचानक आग लगने से 17 लोगोंं की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गये। मृतकों में 10 महिलाएं शामिल हैं। पुलिस ने पटाखा फैक्ट्री के मालिक मनोज जैन को गिरफ्तार कर लिया है। रोहिणी जिले के पुलिस उपायुक्त रजनीश गुप्ता ने बताया कि फैक्ट्री मालिक मनोज जैन को कल देर रात गिरफ्तार कर लिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आग लगने की घटना पर दु:ख व्यक्त किया है। मोदी ने ट्वीट किया,  मृतकों के परिजनों के प्रति मेरी गहन संवदेना। मैं घटना में घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना पर दु:ख जताया और कहा कि वह राहत और बचाव कार्यों पर पूरी नजर रखे हुए हैं। उन्होंने बताया कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।
PunjabKesari
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि उनका विभाग भी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। रोहिणी जिला पुलिस उपायुक्त रजनीश गुप्ता ने बताया कि शाम करीब छह बजे फैक्ट्रियों में आग लगने की सूचना मिली। इनमें से एक पटाखा फैक्ट्री में लगी आग की विकरालता का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि इसकी चपेट में आकर 17 मजदूरों की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि इनमें से ज्यादातर की मौत दम घुटने के कारण हुई।
PunjabKesari
दिल्ली अग्निशमन विभाग के निदेशक डी.सी. मिश्रा ने बताया कि बवाना सेक्टर एक तथा पांच से फैक्ट्रियों तथा गोदामों में आग लगने की सूचना मिली जिसके बाद 12 दमकलों को तुरंत घटनास्थल के लिए रवाना किया गया। बहरहाल तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पटाखा फैक्ट्री अवैध रूप से चल रहा था। पुलिस ने धारा 285 और 304 के तहत मामला दर्ज किया है।

बवाना हादसा में फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार
बवाना औद्योगिक इलाके में लगी भीषण आग के सिलसिले में पुलिस ने पटाखा फैक्ट्री के मालिक मनोज जैन को गिरफ्तार कर लिया है। रोहिणी जिले के पुलिस उपायुक्त रजनीश गुप्ता ने बताया कि फैक्ट्री मालिक मनोज जैन को कल देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। इस फैक्ट्री के मालिक मनोज जैन और ललित गोयल हैं। ललित गोयल मनोज का करीबी दोस्त और पड़ोसी भी है लेकिन मनोज का दावा है कि वह अकेला ही इस फैक्ट्री का मालिक है। आग में झुलसे एक व्यक्ति ने बताया कि फैक्ट्री में पैकिंग का काम चल रहा था। तभी बाहर से किसी ने पटाखा जलाकर अंदर फेंक दिया। पुलिस हालांकि अभी यह जांच कर रही है कि फैक्ट्री में पटाखे बनाने का लाइसेंस है या नहीं।   उन्होंने बताया कि मनोज जैन ने एक जनवरी को यह फैक्ट्री किराए पर ली थी और उसने यह भी बताया कि होली और किसी विशेष कार्यक्रम में आपूर्ति के लिए पटाखों की पैकिंग की जा रही थी। घटना स्थल से मिली सामग्री में भी इसकी पुष्टि हुई है।  पुलिस उपायुक्त ने बताया कि पांच शवों की पहचान कर ली गई है और अन्य की पहचान के लिए कोशिश की जा रही है।

 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You