अपनों की गद्दारी के कारण पहला स्वतंत्रता आंदोलन सफल नहीं हो पाया :शिवराज सिंह

  • अपनों की गद्दारी के कारण पहला स्वतंत्रता आंदोलन सफल नहीं हो पाया :शिवराज सिंह
You Are HereNational
Thursday, August 10, 2017-12:09 AM

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अपनों की गद्दारी के कारण ही वर्ष 1857 का देश का पहला स्वतंत्रता आंदोलन सफल नहीं हो पाया था। चौहान ने शौर्य स्मारक प्रांगण में भारत छोडो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर युवाओं को संबोधित किया। चौहान ने विस्तार से बताया कि आजादी की लडाई कैसे प्रारंभ हुई और अहिंसात्मक तथा क्रांतिकारी आंदोलन किस तरह साथ साथ चले।

उन्होंने कहा कि देश को स्वतंत्रता आसानी से नहीं मिली है। हजारों क्रांतिकारियों ने अपना सबकुछ बलिदान कर दिया। चौहान ने वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई के आजादी के आंदोलन में योगदान का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ अपने ही लोगों की गद्दारी के कारण 1857 का आंदोलन सफल नहीं हो पाया था।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक युवा को समझना चाहिए कि देश को आजादी कैसे हासिल हुई। चौहान ने कहा कि युवाओं को सीमाओं पर तैनात जांबाज जवानों से संवाद करने भेजने और देशभक्ति की प्रेरणा देने के लिए शुरू की गई मां तुझे प्रणाम योजना में अब अंडमान और निकोबार को भी शामिल किया जाएगा। ऐसा करने से युवा जान सकेंगे कि क्रांतिकारियों ने कितनी यातनाएं सहीं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You