फिर टूटा हरियाणा पुलिस का 'दिल', हनीप्रीत है कि मिलती नहीं!

You Are HereNational
Thursday, September 21, 2017-6:20 PM

चंडीगढ़: हनीप्रीत एक ऐसा नाम जो इन दिनों राम रहीम के लिए मरहम, पुलिस के लिए जख्म और मीडिया के लिए किसी मसाले से कम नही हैं। इन दिनों अगर देश की जनता की जुबान पर किसी का नाम है तो वो सिर्फ हनीप्रीत का लेकिन बाबा की ये बेटी एक ऐसी पहेली बन चुकी है जो सुलझने का नाम नहीं ले रही। हनीप्रीत के लिए जितना राम रहीम बेताब हैं उतनी ही हरियाणा पुलिस भी। तभी तो हनीप्रीत के लिए पुलिस हरियाणा, राजस्थान ही नहीं बल्कि पड़ोसी देश नेपाल तक की खाक छान चुकी है लेकिन तलाश-ए-हनीप्रीत खत्म ही नहीं होती।PunjabKesari

राजस्थान से खाली हाथ लौटी पुलिस
हनीप्रीत की लोकेशन को लेकर आज दिनभर नाटकीय घटनाक्रम चला। पुलिस को हनीप्रीत के राजस्थान में होने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही राजस्थान के श्रीगंगानगर में तलाशी अभियान शुरू हो गया। श्रीगंगानगर स्थित गुरुसर मोडिया गांव में राम रहीम का डेरा स्थित है जहां लड़कियों के हॉस्टल में हनीप्रीत के छिपे होने की सूचना मिली। इसके बाद तीन थानों की पुलिस को मौके पर लगा दिया गया। पुलिस ने स्कूल घेर लिया। एक बार तो लगा आज हनीप्रीत पुलिस के हत्थे चढ़ ही जाएगी लेकिन पुलिस को हनीप्रीत का कोई सुराग नहीं मिला और वह खली हाथ लौट गई।
PunjabKesari
नेपाल में हनीप्रीत की हमश्कल को लिया हिरासत में 
इससे पहले खबरें आई थी कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम की राजदार हनीप्रीत को काठमांडू से करीब 60 किलोमीटर दूर देखा गया था। राजधानी काठमांडु के त्रिभुवन हवाई अड्डे से लेकर सभी बड़े शहरों में हनीप्रीत की तलाश की गई। नेपाल पुलिस ने हनीप्रीत की तलाश के लिए तेज-तर्रार अफसरों की 10 टीमें गठित की बावजूद इसके हनीप्रीत कहीं भी नहीं मिली। वहीं नेपाल के भेटेटार में घुमने आई हनीप्रीत जैसी एक लड़की को नेपाल पुलिस ने हिरासत में ले लिया और इसी बीच अफवाह फैल गई कि हनीप्रीत पकड़ी गई। हालांकि, जांच के बाद पुलिस ने हनीप्रीत की हमशक्‍ल को छोड़ दिया। पुलिस ने उससे 3 घंटे पूछताछ की लेकिन बाद में पता चला कि वो हनीप्रीत नहीं बल्कि पटना की शोविका यादव है आधार कार्ड और दूसरे साक्ष्य दिखाने के बाद उसे छोड़ा गया।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You