भारत-आस्ट्रेलिया के बीच '2 प्लस 2 वार्ता' शुरू

  • भारत-आस्ट्रेलिया के बीच  '2 प्लस 2 वार्ता' शुरू
You Are HereLatest News
Wednesday, December 13, 2017-5:10 PM

सिडनीः हिंद-प्रशांत क्षेत्र को ध्यान में रखते हुए अपनी द्विपक्षीय रणनीतिक साझेदारी और रक्षा सहयोग को बढ़ाने के लिए भारत और आस्ट्रेलिया ने मंगलवार को यहां विदेश सचिवों और रक्षा सचिवों के बीच 2 प्लस 2 वार्ता शुरू की। भारत और आस्ट्रेलिया ने मंगलवार को यहां विदेश सचिवों और रक्षा सचिवों के बीच 2 प्लस 2 वार्ता में भारत की तरफ से विदेश सचिव एस. जयशंकर और रक्षा सचिव संजय मित्रा ले रहे हैं व  ऑस्ट्रेलिया की तरफ से विदेश व व्यापार विभाग के सचिव फ्रांसेस एडमसन और रक्षा विभाग के सचिव ग्रेग मोरियार्टे शामिल हुए। 

विदेश मंत्रालय के बयान अनुसार दोनों देशों के बीच रणनीतिक और रक्षा संबंधों को ध्यान में रखते हुए द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुओं की समीक्षा की जाएगी। बयान के अनुसार, "भारत और ऑस्ट्रेलिया लोकतांत्रिक व बहुलवादी मूल्यों पर आधारित द्विपक्षीय संबंध साझा करते हैं। दोनों देशों के बीच सामरिक दृष्टिकोण बढ़ रहे हैं।"  "दोनों पक्ष इस पर सहमत हुए कि खुले, समृद्ध और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में समावेशी हित वृहत परिपेक्ष्य में क्षेत्र व विश्व के सभी देशों के दीर्घकालिक हितों के लिए काम करें। "

बदले हुए वैश्विक परिदृश्य में, ऑस्ट्रेलिया ने भारत को क्षेत्रीय सुरक्षा व स्थिरता को बढ़ावा देने के क्षेत्र में संभावित साथी के रूप में पहचाना है।  इससे द्विपक्षीय संबंध, वर्ष 2009 में सुरक्षा सहयोग पर संयुक्त घोषणा पत्र को अपनाने समेत सामरिक साझेदारी तक पहुंचे हैं। आस्ट्रेलिया के तत्कालीन प्रधानमंत्री टोनी एबॉट के वर्ष 2014 के दौरे के दौरान, दोनों देशों ने असैन्य परमाणु सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। उस दौरे के दौरान, दोनों पक्ष रक्षा सहयोग को अनुसंधान, विकास और औद्योगिक वचनबद्धता पर पहुंचाने को लेकर सहमत हुए थे। ऑस्ट्रेलिया के साथ वर्ष 2016 में भारत ने सामानों व सेवा क्षेत्र में 1560 करोड़ डॉलर का व्यापार किया।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You