चीन की इस हरकत पर भारत को कड़ा एतराज, अमरीका ने दी ये सलाह

  • चीन की इस हरकत पर भारत को कड़ा एतराज, अमरीका ने दी ये सलाह
You Are HereNational
Thursday, August 17, 2017-11:59 AM

नई दिल्ली/बीजिंग: चीनी सैनिकों द्वारा लद्दाख के पेंगांग झील के नजदीकी इलाके में घुसपैठ के प्रयास पर भारत ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है। एक ओर, भारत और चीन के सैन्य अधिकारियों ने लेह के चुशूल में इस मसले पर बैठक की। दूसरी ओर, भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस घटना को लेकर राजनयिक चैनल के जरिए आपत्ति दर्ज कराई है। चीन ने घुसपैठ की ताजा घटना को लेकर रटा-रटाया जवाब दिया है।

लद्दाख में भारतीय सैनिकों से झड़प होने की किसी घटना को लेकर चीनी अधिकारियों ने अनभिज्ञता जताई है और कहा, नहीं मालूम कि उसके सैनिकों ने भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की है। पेंगांग झील के दो तिहाई हिस्से पर चीन का नियंत्रण है, जबकि इसके एक तिहाई भाग पर भारत का।  भारतीय सेना के अधिकारियों के अनुसार, चुशूल की बैठक में दोनों देशों के अधिकारियों ने सीमा पर शांति बरकरार रखने के बारे में बातचीत की।

गौरतलब है कि चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों ने 15 अगस्त को सुबह 6 बजे से 9 बजे के बीच दो क्षेत्रों- फिंगर फोर और फिंगर फाइव में भारतीय सीमा का उल्लंघन किया। भारतीय सैनिकों ने आपत्ति जताई और उनको पीछे धकेला। सीमा विवाद निपटाने के लिए दोनों देशों के विशेष प्रतिनिधियों के बीच अब तक 19 दौर की बातचीत हो चुकी है।

डोकलाम विवाद को हल करने के प्रयासों पर हुआ चुनयिंग ने चीन के पुराने रुख को दोहराते हुए कहा कि भारतीय सेना ने इस इलाके में अवैध घुसपैठ की है, लिहाजा उसके सैनिकों को बिना शर्त वापस चले जाना चाहिए। ऐसा करना किसी भी सार्थक बातचीत की पूर्व शर्त है। उधर, चीन की हरकतों से खफा अमरीका ने कहा है कि वह चाहता है कि तनाव कम करने के लिए भारत और चीन सीधी बातचीत करें। अमरीकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीदर नावेर्त ने  कहा- हम दोनों पक्षों को साथ बैठने और सीधी बातचीत करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You