इस भारतीय युवक ने 2 देशों के बीच खोजी लावारिस जगह और बन गया 'राजा'

You Are HereNational
Wednesday, November 15, 2017-1:45 PM

नई दिल्लीः  इंदौर के रहने वाले सुयश दीक्षित ने सूडान और मिस्त्र के बीच 800 वर्ग मील के क्षेत्र पर अपना झंडा लगाकर उसे 'किंगडम ऑफ दीक्षित' घोषित किया है। साथ ही उसने खुद को यहा का राजा घोषित कर दिया। सुयश ने सूडान और मिस्र के बीच ऐसी जगह खोजी है, जहां दोनों में से किसी देश का हक नहीं है। जब वह उस जगह पहुंचे तो वहां अपना झंडा लगा दिया। सुयश ने खोजी गई इस 2072 स्क्वेयर फीट की जगह को लेकर यूएन से मांग की है कि उन्हें इस जगह का मालिकाना हक दिया जाए।

PunjabKesari

जगह को लेकर दीक्षित ने कही दिलचस्प बातें
-दीक्षित ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा कि किंगडम ऑफ दीक्षित की राजधानी सुयशपुर होगी।
-इस देश के प्रधानमंत्री,राष्ट्रपति और मिलिट्री हेड उनके पिता होंगे। खुद को राजा बनाया है।
-उन्होंने छिपकली को इस देश का राष्ट्रीय पशु बनाने की बात कही।
-यहां आकर मैंने पौधा लगाने के लिए बीज बोया और उसे पानी दिया। यहां पौधे का बीज लगाकर अब मैं यह दावा करता हूं कि यह सारी जगह मेरी है।
-उन्होंने इस देश की वेबसाइट https://kingdomofdixit.gov.best/ भी बनाई ताकि
इस नए देश की नागरिकता के लिए लोग रजिस्ट्रेशन करा सकें। 
PunjabKesari
घूमने का शौकीन है सुयश
सुयश इंदौर के गुरु हरिकिशन पब्लिक स्कूल में पढ़े हैं। उन्हें शुरू से ही घूमना काफी पंसद है। वे एक सॉफ्टीनेटर कंपनी के सीईओ हैं। जिस जगह उन्होंने लावारिस जगह का दावा किया उसका नाम बीर ताविल है। जानकारी के मुताबिक ये यह पूरा इलाका रेगिस्तानी है, जो मिस्त्र और सूडान की दक्षिणी सीमा से लगा हुआ है। मिस्त्र और सूडान इसे अपना इलाका नहीं मानते। मिस्त्र का मानना है कि 800 वर्ग मील का यह इलाका सूडान का है, तो सूडान यह मानता है कि यह मिस्त्र का है।

ऐसे में रेतीले इलाकों से होते हुए 319 किमी का सफर तय कर यहां पहुंचे सुयश ने कहा कि मेरे पहले भी यहां कुछ और लोग भी दावा कर चुके हैं, उनसे जमीन लेने के लिए मैं कॉी पीकर जंग लडूंगा। अपने इस सफर के बीच सुयश को कई आतंकवाद प्रभावित इलाकों से भी गुजरना पड़ा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You