Subscribe Now!

महत्वाकांक्षाओं से भरपूर हैं भारत और आसियान: जेतली

  • महत्वाकांक्षाओं से भरपूर हैं भारत और आसियान: जेतली
You Are HereNational
Tuesday, January 23, 2018-7:54 PM

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेतली ने भारत और आसियान को महत्वाकांक्षाओं से भरपूर दुनिया बताते हुये कहा कि इन दोनों के बीच व्यापार बढऩे से न सिर्फ ये समृद्ध होंगे बल्कि रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और ये एक दूसरे के मददगार होंगे। जेतली ने भारतीय उद्योग परिसंघ(सीआईआई) द्वारा वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के सहयोग से आयोजित दो दिवसीय आसियान भारत बिजनेस एंड इंवेस्टमेंट सम्मेलन एवं एक्सपो के समापन सत्र को संबोधित करते हुये कहा कि आज भारत और आसियान की कहानी एक जैसी है। 

वित्त मंत्री ने कहा कि जब पूरी दुनिया मंदी के चपेट में थी तो भारत वैश्विक विकास में मदद कर रहा था और उसी के साथ आसियान की वृद्धि दर भी 4.5 से 5 फीसदी रही थी। उन्होंने कहा कि जब वैश्विक स्तर पर औद्योगिक क्रांति का लाभ उठाया जा रहा था तब भारत और आसियान उस क्रांति से वंचित थे लेकिन पिछले दो तीन दशक में यह स्थिति बदली है और अब दोनों वैश्विक विकास को गति दे रहे हैं। 

जेतली ने कहा कि मंदी के दौरान भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढऩे वाला अर्थव्यवस्था रहा, और जिस गति से आर्थिक विकास जारी है अगले दो तीन दशक में भारत विश्व की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन जायेगा। कहीं भी निवेशक दो तीन दशक के आर्थिक स्थिती को देखकर निवेश करते हैं। भारत में अभी इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश की जरूरत है। इसके साथ घरेलू विनिर्माण को गति दिये जाने के साथ ही सेवा क्षेत्र में भी बहुत संभावनाएं हैं। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You