JBT पेपर लीक मामला : सतिंद्र हुड्डा ने पुलिस रिमांड में खोली पोल, 10 लाख की 1 सीट

  • JBT पेपर लीक मामला : सतिंद्र हुड्डा ने पुलिस रिमांड में खोली पोल, 10 लाख की 1 सीट
You Are HereChandigarh
Thursday, November 24, 2016-9:39 AM

चंडीगढ़ (कुलदीप): जे.बी.टी. पेपर लीक मामले में गिरफ्तार अहम आरोपियों में से एक सतिंद्र हुड्डा ने पुलिस रिमांड में जे.बी.टी. के अलावा टी.जी.टी. भर्ती घोटाले में बड़ा खुलासा किया है। आरोपी ने बताया कि प्रति सीट 10 लाख की कीमत में उसके जानकारी में करीब 50 शिक्षकों की भर्ती हुई है। वहीं, करीब 109 गुरुजी भर्ती होकर आए हैं। गौरतलब है कि पुलिस ने सतिंद्र हुड्डा से पहले उसके भतीजे सोनीपत निवासी 20 वर्षीय सचिन हुड्डा को गिरफ्तार किया था। स्पैशल इनवैस्टिगेशन टीम से प्राप्त जानकारी के अनुसार सतिंद्र हुड्डा ने रिमांड में बताया कि वह लाभार्थियों के बारे में जानने के अलावा टी.जी.टी. भर्ती घोटाले में काफी जानकारी रखता है। उसने बताया कि प्रति कैंडिडेट्स 10 लाख का सौदा तय करके काम करवाया गया था। पहले आरोपियों ने पेपर लीक का पूरा जुगाड़ लगाया और बाद में पेपर मिलने पर गारंटी के साथ कैंडिडेट्स से पैसा वसूल किया। 

 

मोबाइल व सिम की थी रिकवर
इससे पहले खुलासा हुआ था कि आरोपी सचिन के कब्जे से पुलिस ने एक एच.टी.सी. कंपनी का मोबाइल फ़ोन और सिम कार्ड व मैमोरी कार्ड रिकवर किया है। उसने बताया कि उसने अपना यह मोबाइल अपने चाचा सतिंद्र हुड्डा को स्कै म में इस्तेमाल के लिए दिया था। यही नहीं उसने वर्ष 2015 में जे.बी.टी./टी.जी.टी. में 7 लाभार्थी कैंडीडेट्स अपने चाचा सतिंद्र हुड्डा व पिंकी नामक कैंडीडेट के साथ अरेंज किए थे। 29 जुलाई को सैक्टर-11 थाने ने आपराधिक स्तर पर विश्वासघात, धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं में यह केस दर्ज किया था। मामले में अभी तक संदीप, बिजेंद्र नैन, संपूर्ण सिंह, सुशीला, दविंद्र और अब सचिन यू.टी. पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You