स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीर में आतंकी खतरा, अलर्ट जारी

  • स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीर में आतंकी खतरा, अलर्ट जारी
You Are HereNational
Saturday, August 12, 2017-10:44 AM

श्रीनगर : कश्मीर घाटी में अगले हफ्ते स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकी खतरा मंडरा रहा है। सुरक्षाधिकारी के अनुसार ऐसी खबरें मिली हैं कि आतंकी कार बम विस्फोटों को अंजाम देने की खातिर कारों को अपहृत कर सकते हैं। इसके मद्देनजर राज्य में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। पुलिस को संदेह है कि अपहृत कारों का उपयोग आतंकवादी स्वतंत्रता दिवस के दिन या उससे पहले विसफोट कर सकते हैं। कश्मीर घाटी में प्रमुख संगठनों के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और ताकि इन समारोहों में बाधा डालने के आतंकवादियों के किसी भी मंसूबे को नाकाम किया जा सके।


आतंकी संगठन अल-उमर मुजाहिदीन के चीफ  कमांडर मुश्ताक लटरम ने लोगों से 15 अगस्त को कश्मीर में पूर्ण हड़ताल रखने व यौम-ए-स्याह (काला दिवस) मनाने को कहा है। हालांकि पुलिस ने स्वतंत्रता दिवस के दौरान किसी प्रत्यक्ष आतंकी खतरे से इन्कार किया है। सूत्रों ने बताया कि आतंकियों के अगले पांच दिनों तक किसी बड़ी वारदात को अंजाम दिए जाने की साजिश का खुफिया तंत्र ने पता लगाते हुए राज्य पुलिस समेत सभी सुरक्षा एजेंसियों को सचेत किया है।

काजीगुंड-श्रीनगर-बारामुला हाईवे पर हमले की साजिश
आतंकियों द्वारा काजीगुंड-श्रीनगर और श्रीनगर-बारामुला हाईवे पर हमला करने की साजिश रची गई है। आतंकियों व उनके समर्थकों को पकडऩे के लिए विभिन्न इलाकों में लगातार कासो अभियान चलाया जा रहा है। सभी होटल और हाउस बोट खंगाले जा रहे हैं। राज्य पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह सारी कवायद घाटी में हालात को सामान्य व सुरक्षित बनाने के लिए ही की जा रही है।

सुरक्षा कड़ी की गई
अधिकारियों ने आज बताया कि सीमा पार से घुसपैठ की कोशिशों और संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में बढ़ोतरी को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की गई है।
स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह श्रीनगर का बख्शी स्टेडियम में होता है। समारोह के सुरक्षा उपायों के तहत सेना और सी.आर.पी.एफ . के जवानों ने स्टेडियम की वस्तुत: किलेबंदी करना शुरु कर दिया हैं। शहर में और उसके बाहरी इलाकों खास तौर से राजधानी के प्रवेश स्थलों पर विशेष नाका स्थापित किए गए हैं।

लश्कर को मिला है टारगेट
इस बीच राज्यभर में लश्कर-ए-तोयबा की योजना से निपटने की खातिर जारी किए गए रेड अलर्ट से माहौल दहशतजदा हो गया है। उच्च पदस्थ सूत्र बताते हैं कि लश्कर-ए-तोयबा के करीब कुछ आतंकियों को यह टारगेट सौंपा गया है। वे बताते हैं कि इन आतंकियों की तलाश में सारा अमला लगा दिया गया है। लश्कर का शीर्ष कमांडर अबु दुजाना सहित कई आतंकी मारे जा चुके हैं। कई शीर्ष नेता पकड़े भी जा चुके हैं।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You