एक और घोटाले में फंसा लालू परिवार, दिल्ली में है करोड़ों का घर

  • एक और घोटाले में फंसा लालू परिवार, दिल्ली में है करोड़ों का घर
You Are HereNational
Tuesday, April 18, 2017-5:07 PM

पटना : बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव एवं उनके परिवार के कथित जमीन घोटाला मामले में एक और खुलासा करते हुए कहा कि कात्याल परिवार ने लालू यादव के लिए बेनामी जमीन खरीदने के उद्देश्य से ही कंपनी ए. के. इंफोसिस्टम्स बनाई थी।

सुशील मोदी ने जनता दरबार के बाद आयोजित संवाददाता सम्मलेन में कहा, बिहटा में शराब कारखाना लगाने में मदद देने के एवज में उद्योगपति ओमप्रकाश कात्याल परिवार द्वारा बनाई गई कंपनी ए.के. इंफोसिस्टम्स का उद्देश्य केवल तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के लिए बेनामी जमीन खरीदना था ताकि भविष्य में जमीन समेत पूरी कंपनी लालू परिवार को सौंपी जा सके।

भाजपा नेता ने कहा कि ए. के. इंफोसिस्टम्स ने मार्च 2007 में 39 लाख रुपए में पटना के पानापुर में 28.57 डिसमिल और चितकोहरा में 43 डिसमिल यानि कुल 72 डिसमिल जमीन खरीदी। इसके अलावा इस कंपनी ने लालू यादव के दोनों मंत्री पुत्रों तेजप्रताप यादव (पर्यावरण एवं वन मंत्री) और तेजस्वी यादव ( उपमुख्यमंत्री) को उनके चाचा ( यादव के भाई) प्रभुनाथ यादव से उपहार में मिली 13 लाख रुपए मूल्य की सलेमपुर डुमरा में दो कट्टा एक धुर जमीन समेत उस पर बने दो मंजिला मकान को 70 लाख रुपए में खरीद ली। इस संपत्ति को खरीदने के लिए ओमप्रकाश कात्याल ने ए. के. इंफोसिस्टम्स को 80 लाख रुपए और अमित कात्याल ने 35 लाख रुपए (कुल एक करोड़ 15 लाख रुपए) कर्ज के तौर पर दिए। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You