मां कर रही थी घायल बेटे के ठीक होने की दुआएं, लेकिन घर पहुंचा शहीद का शव

You Are HereTop News
Monday, November 14, 2016-4:34 PM

बांसवाडा: जम्मू कश्मीर के कुपवाडा सैक्टर में गोलीबारी में शहीद हुए राजस्थान में बांसवाडा जिले के सपूत हर्षित भदोरिया के पार्थिक देह का आज यहां ठीकरिया के मोक्षधाम पर पूरे सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इससे पूर्व शहीद की पार्थिव देह को आज सुबह उदयपुर स्थित एकलिंग-संजय छावनी से सेना के वाहन द्वारा यहां त्रिपुरा कॉलोनी स्थित उसके आवास पर लाया गया।  इस दौरान मार्ग में जगह जगह बडी संख्या में ग्रामीणों का सैलाब उमड़ पड़ा।

ग्रामीण वन्दे मातरम्‌, हिन्दुस्तान जिंदाबाद, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे। अंत्येष्टि स्थल पर शहीद के सम्मान में सेना के जवानों ने सलामी दी। इस अवसर पर राजस्थान सरकार की तरफ से राज्यमंत्री जीतमल खांट, विधायक धनसिंह रावत, नवनीतलाल निनामा, जिला कलेक्टर सहित बडी संख्या में जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे। गौरतलब है कि वीर सपूत हर्षित गत शुक्रवार को कुपवाडा सैक्टर में पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी में शहीद हो गया था। उनकी पार्थिव देह कल शाम को वायुसेना के विशेष विमान उदयपुर के डबोक हवाई अड्डे पहुंची थी जहां सेना के जवानों ने सलामी देने के बाद उसे उदयपुर स्थित सेना मुख्यालय एकलिंग-संजय छावनी में रखवाया था।

मां को नहीं थी बेटे की शहीदी की जानकारी
भीलवाड़ा में रहने वाली शहीद हर्षित की मां ज्योति को यही बताया गया था कि उनका बेटा घायल है। हर्षित के पिता ने बेटे के घायल होने की बात कही थी और बताया कि वह हॉस्पिटल में भर्ती है। तभी से हर्षित की मां बेटे के जल्दी ठीक होने की प्रार्थना कर रही थी लेकिन बेटे का पार्थिव शरीर देख उनका रो-रोकर बुरा हाल था। 23 वर्षीय हर्षित की कुछ महीने पहले ही राजपूत रेजिमेंट में तैनाती हुई थी। गणेश उत्सव के दौरान वह 28 दिनों की छुट्टी पर घर आए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You