डॉक्टर ने किया 500 का नोट लेने से इंकार, बच्चे की गई जान

  • डॉक्टर ने किया 500 का नोट लेने से इंकार, बच्चे की गई जान
You Are HereNational
Sunday, November 13, 2016-12:56 PM

नई दिल्ली: देशभर में 500 और 1000 के नोट बंद किए जाने की कीमत एक नवजात बच्चे को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। यह मामला मुंबई के गोवंडी का है जहां एक मां और उसके बच्चे को इलाज के लिए जीवन ज्योत हॉस्पिटल एंड नर्सिंग होम में इलाज के लिए लाया गया था। मगर माता-पिता के पास सिर्फ 500 रुपए के नोट थे, जिसे लेने डॉक्टर ने इंकार कर दिया। उसके बाद सही समय पर बच्चे को इलाज न मिलने कारण उसकी मौत हो गई। 

 

डॉक्टरों ने कर दिया इलाज करने से मना
जानकारी मुताबिक 9 नवंबर को किरण को अचानक लेबर पेन शुरू हो गया और रिश्तेदार और पड़ोसियों की मदद से उन्होंने बच्चे को जन्म दिया। उसके बाद मां और बच्चे की हालत खराब होने की वजह से दोनों को नर्सिंग होम लाया गया। जगदीश को कुल 6000 रुपए जमा कराने कराने थे मगर उनके पास सिर्फ 500-500 के नोट थे। उन्होंने बैंक और एटीएम के काफी चक्कर लगाए पर वे सभी बंद थे जिसके चलते नोट 100 के नोट में नहीं बदले जा सके। उन्होंने बार-बार गुहार लगाई मगर डॉक्टरों ने इलाज करने से साफ मना कर दिया। उन्होंने किरण और बच्चे को वापस भेज दिया। उसके एक बाद बच्चे ने दम तोड़ दिया। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You