कांग्रेस सरकार नहीं रोकती तो सीएम रहते ही करा देता केदारनाथ का पुन: निर्माण: मोदी

  • कांग्रेस सरकार नहीं रोकती तो सीएम रहते ही करा देता केदारनाथ का पुन: निर्माण: मोदी
You Are HereSocial Trends
Friday, October 20, 2017-6:06 PM

नेशनल डेस्क: शुक्रवार को प्रधानमंत्री 6 महीने के बाद एक बार फिर बाबा केदारनाथ का दर्शन करने पहुंचे। दर्शन पूजन के बाद उन्होंने 700 करोड़ रुपए के योजनाओं का शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने स्थानीय लोगों से कहा कि इस मंदिर व आसपास के स्थलों के पुन: निर्माण का कार्य वो बहुत पहले ही करा देते। लेकिन तत्कालीन समय केंद्र में रही कांग्रेस सरकार ने ऐसा कराने से इंकार कर दिया। मोदी के इस बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने जवाब दिया है कि बाबा के द्वारा मोदी के अहंकार की पराकाष्ठा है। अपने ट्विटर पेज पर सुरजेवाला ने वीडियो जारी कर मोदी पर निशाना साधा है।
 


राज्य सरकार राजी केंद्र को लगी मिर्ची
पीएम मोदी ने कहा है कि मैं गुजरात मुख्यमंत्री के रहते हुए मंदिर का पुन: निर्माण कराना चाहता था लेकिन तत्कालीन केंंद्र सरकार ने नहीं कराने दिया। कें्रद के हस्तक्षेप के कारण राज्य सरकार को मजबुरी में घोषणा करनी पड़ी की उन्हें गुजरात सरकार से मद्द की जरूरत नहीं है। लेकिन केदारनाथ चाहते थे कि पुन: निर्माण का कार्य उनके बेटे के द्वारा ही हो इसीलिए उन्होंने मुझे यह अवसर दिया। इसीलिए कपाट खुला था तो मैं आया था और अपने संकल्प को दोहराने के बाद 6 महीने बाद कपाट बंद होने से पहले संकल्प को साकार करने को लेकर कदम बढ़ा दिया है।

700 करोड़ की योजना
योजनाओं के बारें में मोदी ने कहा कि पुन: निर्माण के लिए डिजाइन और आर्किटेक्चचर को विधि विधान के साथ ही तैयार कराया गया है। कहा कि पुरोहितों के मकान थ्री-इन-वन होंगे। नीचे यात्रियों को ठहरने की व्यवस्था होगी, उसके ऊपरी मंजिल पर पुरोहित रहेंगे और उनके वाली पुरोहित के यजमान और मेहमान रहेंगे। इस पुरे इलाके में 24 घंटे पानी, बिजली, सफाई की व्यवस्था होगी। केदारनाथ मंदिर जाने वाली सड़क आरसीसी से बनेगी और काफी चौड़ी होगी, खास बात यह होगी कि इस सड़क पर चलने वाले यात्रियों को हर पहर के अनुसार संगीत सुनाई देगा। यहां पर पोस्ट ऑफिस, बैंक जैसी अत्याधुनिक सुविधा होगी। मंदाकिनी नदी के तट पर संगीत सुनाई देगा। तट पर एक घाट का निर्माण होगा। तट पर बैठने की सुविधा होगी। तट पर भव्य व दिव्य वातावरण तैयार होगा। 2014 में आई त्राषदी में आदि शंकराचार्य की समाधि नष्ट हो गई थी। उसका भव्य निर्माण होगा। इस पूरे काम पर धन की कमी नहीं होगी। मोदी ने राज्यों की सरकार व उद्योग जगत को हाथ बंटाने का न्यौता भी दिया। उन्होंने दावा किया इस बार साढ़े चार लाख लोग आए तो अगले साल दस लाख लोग आएंगे। 

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You