छत्तीसगढ़: नक्सलियों का फरमान, सरकारी मकान लिया तो खतरे में जान!

  • छत्तीसगढ़: नक्सलियों का फरमान, सरकारी मकान लिया तो खतरे में जान!
You Are HereNational
Tuesday, March 21, 2017-9:02 AM

नारायणपुर: छत्तीसगढ़ में चल रहे नक्सल विरोधी अभियान के बीच नक्सली अपने लुप्त हो रहे जनाधार को लेकर चिंतित हैं। वे इसे फिर से कायम करने के लिए हर संभव कोशिस कर रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों ने इसी क्रम में ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं से दूर रहने का फरमान जारी किया है जिससे यहां की जनता परेशान है। सूत्रों के मुताबिक पिछले दिनों अबूझमाड़ के लाल गलियारे में नक्सलियों ने नया कानून बनाया है। उन्होंने संदेश जारी कर कहा कि जो भी ग्रामीण प्रधानमंत्री और इंदिरा आवास योजना के तहत सरकारी मकान में रहेगा उसे अपना गांव छोड़कर जाना पड़ेगा।

दरअसल, नक्सली ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं से दूर कर उन्हें सरकार के करीब आने से रोकने का प्रयास कर रहे हैं। अपने इस मकसद के तहत अबूझमाड़ में नक्सली पूरी तैयारी के साथ जुट गए हैं। अबूझमाड़ के जंगल से जो बात सामने आ रही है, उसमें नक्सलियों ने लोगों को नसीहत देते हुए सख्‍त शब्दों में कहा है कि जो भी परिवार सरकारी आवास में रहेगा, उसको खामियाजा भुगतना पड़ेगा। नक्सलियों ने पंचायत के सरपंच और सचिव की बैठक लेकर उन्हें खूब फटकार लगाई है। पंचायत प्रतिनिधियों को प्रधानमंत्री आवास योजना से दूर रहने की सलाह दी गई है और कहा गया है कि जो भी पंचायत का सचिव ग्रामीणों को बैंक में खाता खुलवाने के लिए नारायणपुर लेकर जाएगा उसे जनता सरकार के जन अदालत में सजा दी जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You