सरकार के प्रदर्शनकारी छात्रों से निपटने के तरीके पर उमर ने उठाए प्रश्र

  • सरकार के प्रदर्शनकारी छात्रों से निपटने के तरीके पर उमर ने उठाए प्रश्र
You Are HereNational
Monday, April 17, 2017-11:44 PM

 जम्मू : कश्मीर में छात्रों द्वारा प्रदर्शन किए जाने के बाद सुरक्षाबलों और सरकार के वर्ताव पर पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने प्रश्र उठाए हैं। उन्होंने इस बारे में टवीट् कर कहा कि कश्मीर में जो हो रहा है वो गंभीर और चिंता का विषय है। उमर ने टवीट् किया है, मुझे उम्मीद है कि घाटी में व्यापक छात्र प्रदर्शन के परिणामों के बारे में महबूबा मुफ्ती सोच रही होंगी। स्थिति वाकई में चिंताजनक है। उन्होंने लिखा कि पुलवामा झड़पों के बाद सभी कालेज और यूनिवर्सिटीज को बंद क्यों नहीं किया गया। क्या महबूबा को स्थिति के बारे में पता नहीं था।


कश्मीर में आज छात्र सडक़ों पर उतर आए। उन्होंने पुलवामा डिग्री कालेज में शनिवार को हुई हिंसक झड़पों के बाद सोमवार को जमकर विरोध प्रदर्शन किया और सुरक्षाबलों पर पत्थर भी बरसाए। हिंसक झड़पों में पचास से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं। महबूबा सरकार की कड़ी निंदा करते हुए उमर ने आरोप लगाया है कि हर दिन सरकार की नाकामी के कई उदाहरण सामने आ रहे हैं। उन्होंने पुलिस द्वारा अपने कर्मियों को घरों में नहीं जाने की सलाह पर भी प्रश्र खड़े किए हैं।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You