हमारा पड़ोसी मुल्क आतंकवाद को हमारे खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है : जीओसी 16कोर

  • हमारा पड़ोसी मुल्क आतंकवाद को हमारे खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है : जीओसी 16कोर
You Are HereNational
Wednesday, November 22, 2017-3:53 PM

पुंछ : सेना की 16 कोर के जीओसी ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारा पड़ोसी मुल्क आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है और उसे हमारे खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है। अभी उस तरफ लांच पैडस पर काफी तादाद में आतंकी मौजूद हंै जो इस पार आने के प्रयास में हैं, लेकिन मैं आपको भरोसा दिलाता हूं की हमारी फोज पूरी तरह से तैयार है उसकी कोई भी कोशिश हम कामयाब नहीं होने  देंगे। उन्होंने कहा कि  वो क्रास बार्डर फायरिंग कर रहा है उसने इस बार बहुत अधिक फाईरिंग की है रिहाईशी इलकों से फायरिंग कर हमारे रिहाईशी इलाकों को निशाना बनाया है क्रास बार्डर फायरिंग का उसको मुंहतोड़ जवाब दिया गया है और आगे भी दिया जाएगा उसमें कोई कमी नहीं बरती जाएगी।


  भारतीय सेना की 16वीं कौर के कामंडर जी ओ सी लैफटिनैंट जनरल सरणजीत सिंह आज पुंछ में 69वें पुंछ लिंकअप दिवस पर मुख्य मेहमान के तौर पर उपस्थित हुए। उन्होंने सन 1947- 48में पुंछ को पाक सेना और कबाईलियों के कब्जे से छुड़ा कर भारत में मिलाने के लिए अपना बलिदान देने वाले सैनिकों और आम लोगों की याद में बनाए गए नमन स्थल पर शहीदों को श्रदाजंलि अर्पित कर मीडिया से बात की।  उन्होंने कहा कि सेना पाक के किसी भी नापाक इरादे को कामयाब नहीं होने देगी। आतंकवाद हो या सीमा पार से घुसपैंठ या फिर गोलीबारी, पाक को मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है और आगे भी दिया जाएगा।


क्या है लिंकअप दिवस
 पुंछ जोकि 1947 के पहले एक स्वायत राज्य था जिस पर देश का बंटवारा होते ही पाक सेना और कबाईलियों ने हमला कर दिया था और करीब एक वर्ष तक पुंछ नगर को छोड़ कर पूरा क्षेत्र पाक सेना और कबाईलियों के कब्जे में रहा था। इस दौरान तत्तकालीन ब्रिगेडिय प्रीतम सिंह ने चंद सैनिको और पुंछ की आवाम के सहयोग से 22नवम्बर 1948को कबाईलियों और पाक सेना को खदेड़ कर पुंछ राज्य के एक तिहाई हिस्से का भारत के साथ लिंकअप किया था, जिसकी याद में हर वर्ष आज ही के दिन सेना और आवाम की तरफ से कार्यक्रम आयोजित किया जाता हैं।उसी कार्यक्रम में जी ओ सी सरणजीत सिंह बतोर मुख्य आतिथी पहुंचे हुए थे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You