टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के रिस्क वाले टॉप 50 देशों में पाकिस्तान

  • टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के रिस्क वाले टॉप 50 देशों में पाकिस्तान
You Are HereNational
Tuesday, September 12, 2017-8:48 PM

नई दिल्लीः टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के रिस्क वाले देश की सूची में पाकिस्तान को टॉप 50 में रखा गया है। स्विट्जरलैंड के बासेल इंस्टिट्यूट ऑन गवर्नेंस नाम के ग्रुप ने हाल में ऐसी एक रैंकिंग जारी की है। उसके बासेल ऐंटी मनी लॉन्ड्रिंग (एएमएल) इंडेक्स के 2017 एडिशन के मुताबिक अफगानिस्तान, नेपाल और श्रीलंका में सबसे ज्यादा रिस्क है। 

146 देशों में मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फाइनेंसिंग के रिस्क के आधार पर इंडेक्स बनाया गया है। पाकिस्तान 146 देशों की इस लिस्ट में 46वें नंबर पर है और देशों को 0-सबसे कम रिस्क से 10-सबसे ज्यादा रिस्क के स्केल पर मार्क्स दिए गए हैं। बासेल इंस्टिट्यूट ऑन गवर्नेंस स्विट्जरलैंड का इंडिपेंडेंट नॉट फॉर प्रॉफिट कम्पीटेंस सेंटर है। इस साल का ऐवरेज रिस्क 6.15 के बराबर रहा है। 

जिन 10 देशों में एएमएल रिस्क सबसे ज्यादा है, उनमें ईरान, अफगानिस्तान, गिनी बिसाउ, ताजिकिस्तान, लाओस, मोजाम्बिक, माली, उगांडा, कंबोडिया और तंजानिया का नाम है। 
स्विस ग्रुप की वेबसाइट पर जारी हालिया रिपोर्ट के मुताबिक कम रिस्क वाले देशों में फिनलैंड, लिथुआनिया और एस्टोनिया का नाम सबसे ऊपर आता है। ईरान 8.60 पॉइंट्स के साथ लिस्ट में सबसे ऊपर है जबकि सबसे नीचे फिनलैंड 3.04 पॉइंट पर है। 

जहां तक सुधार की बात है तो पिछले एक साल में सबसे अच्छी प्रोग्रेस सूडान, ताइवान, इजरायल और बांग्लादेश की रही जबकि जमैका, ट्यूनीशिया, हंगरी, उज्बेकिस्तान और पेरु की स्थिति काफी बिगड़ी है। साउथ एशिया में अफगानिस्तान, नेपाल और श्रीलंका क्रमश: 8.38, 7.57 और 7.15 अंक के साथ दूसरे, 14वें और 25वें पायदान पर रहे हैं। 

वहीं, पाकिस्तान को 6.64 मार्क्स दिए गए हैं जो इस साल के औसत 6.18 से ज्यादा है। रिपोर्ट के मुताबिक भारत 5.58 अंक के साथ 88वें नंबर पर है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You