पन्नीरसेल्वम गुट ने AIADMK के साथ विलय को लेकर रखी 2 शर्तेें

  • पन्नीरसेल्वम गुट ने AIADMK के साथ विलय को लेकर रखी 2 शर्तेें
You Are HereNational
Thursday, April 20, 2017-7:27 PM

चेन्नई: पूर्व सीएम ओ पन्नीरसेल्वम के नेतृत्व वाली एआईएडीएमके (पुराची थलावी अम्मा) ने सत्तारूढ़ एआईएडीएमके (अम्मा) के साथ विलय पर चर्चा के लिए दो शर्तें रखी हैं। पन्नीरसेल्वम का धड़ा चाहता है कि एआईएडीएमके(अम्मा) चुनाव आयोग में दाखिल किए गए उस हलफनामे को वापस ले जिसमें लिखा गया है कि वी.के.शशिकला और उनके भतीजे टी.टी.वी दिनकरन क्रमश: पार्टी के महासचिव और उप महासचिव हैं। एआईएडीएमके यह भी चाहता है कि राज्य सरकार केंद्र से पूर्व सीएम जयललिता की मौत की सीबीआई से जांच कराने की मांग करे।

शशिकला को पद से हटाने की मांग
पूर्व मंत्री और पन्नीरसेल्वम धड़े के नेता के.पी. मुनुसामी ने कहा कि हम चाहते हैं कि शशिकला और दिनकरन को क्रमश: महासचिव और उप महासचिव पद से हटाया जाए। उनके निष्कासन को लेकर बयान जारी किया जाना चाहिए और साथ ही पार्टी के किसी भी काडर का शशिकला परिवार से कुछ लेना-देना न हो। पन्नीरसेल्वम धड़े की तरफ से यह बयान लोकसभा उपाध्यक्ष और एआईएडीएमके नेता एम थम्बीदुरई और वित्त मंत्री डी. जयकुमार के बयान के बाद आया है।

थम्बीदुरई ने जहां पलनीसामी के राज्य के सीएम बने रहने की बात कही थी। वहीं, वित्त मंत्री डी. जयकुमार ने कहा था कि शशिकला और उनके परिवार को पन्नीरसेल्वम धड़े के दबाव के कारण दरकिनार नहीं किया गया। उन्होंने साथ ही कहा, कि पन्नीरसेल्वम तो यह भी दावा कर सकते हैं कि डॉनल्ड ट्रंप उनकी वजह से अमेरिका के राष्ट्रपति नियुक्त हुए हैं। इन दोनों बयानों के कारण पन्नीरसेल्वम धड़ा आहत हुआ है और उसके बाद सांसदों और विधायकों की बैठक बुलाई गई। लंच के बाद इस धड़े ने विलय के लिए 2शर्तें रख दीं। इधर, मुनुसामी ने कहा कि शशिकला का परिवार दिनकरन को एआईएडीएमके में ड्रामा करने के लिए इस्तेमाल कर रहा था।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You