पार्सल विभाग में अब नहीं चल सकेगा गोरख धंधा, आर.पी.एफ. ने शुरू की सख्ती

  • पार्सल विभाग में अब नहीं चल सकेगा गोरख धंधा, आर.पी.एफ. ने शुरू की सख्ती
You Are HereChandigarh
Thursday, November 17, 2016-9:30 AM

चंडीगढ़(लल्लन) : पार्सल विभाग में अवैध रूप से चल रहे कार्य पर अंकुश लगाते हुए आर.पी.एफ. ने सख्ती शुरू कर दी है। सूत्रों के मुताबिक पार्सल विभाग में अगर कोई अवैध रूप से कार्य करता हुआ कर्मचारी मिलेगा तो आर.पी.एफ. की ओर से अब उस पर रेलवे एक्ट (3 आर.पी.यू.पी.) व सम्पत्ति चुराने का केस दर्ज होगा। आर.पी.एफ. व अंबाला मंडल के उच्चाधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद रेलवे के पार्सल विभाग में बुधवार को कोई भी अवैध रूप से कार्य करने वाला कर्मचारी पार्सल कोच में ना तो सामान चढ़ाया न ही उतारा। 

 

इस कारण पार्सल विभाग के पास डी-ग्रेड के कर्मचारी ना होने से रेलवे के पार्सल ऑफिस के बाहर काफी सामान इकट्ठा हो गया है। वहीं जहां दबंगों का कामकाज बंद हैं, वे काम को सुचारू करने के लिए रेलवे के उच्चाधिकारियों पर दबाव बनाने की भी कोशिश कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक ये दबंग पार्सल विभाग का घेराव भी कर सकते हैं, क्योंकि जब से रेलवे के अधिकारियों ने अवैध रूप से कार्य करने वाले कर्मचारियों को हटाया है तभी से इन दबंग लोगों के पार्सल रुके पड़े हैं। पार्सल विभाग के आलाधिकारियों को आर.पी.एफ. व उच्चाधिकारियों की ओर से आर्डर दिया है कि किसी भी शहर से आने वाली ट्रेन का पार्सल कोच सिर्फ पार्सल के अधिकारियों की तरफ से ही खोला जाना चाहिए। पार्सल कोच को पहले अवैध रूप से कार्य कर रहे कर्मचारियों द्वारा ही खोल दिया जाता था। 

 

लगा सामान का ढेर :
अवैध रूप से कार्य कर रहे कर्मचारियों को हटाने के बाद पार्सल विभाग के आगे सामान का ढेर लग गया है। ऐसा इसलिए कि पार्सल विभाग के पास सामान लोड करने व उतारने के लिए कर्मचारी उपस्थित नही हैं। इस कारण लोगों द्वारा सामान तो बुक किया जा रहा हैं लेकिन उसे ट्रेन में लोड़ नहीं किया जा रहा। 

 

अब अवैघ रूप से सामान चढ़ाया व उतारा नहीं जाएगा :
पिछले काफी दिन से रेलवे के पार्सल विभाग में चल रहे अवैध कर्मचारियों के काम करने व लोगों से वसूली के मामले को गंभीरता से लेते हुए आर.पी.एफ.की ओर से पार्सल ऑफिस व पार्सल कोच के पास एक-एक जवान तैनात कर दिए हैं। इसके तहत अब अवैध रूप से कार्य कर रहे कोई भी व्यक्ति सामान को उतार व चढ़ा नहीं सकता। ऐसे में आर.पी.एफ. की ओर से सी.पी.एस.व अन्य पार्सल के कर्मचारियों को निर्देश दिए हैं कि अगर कोई सामान बुक कराने के बाद उसे पार्सल कोच मे चढ़ाते हुए अवैध रूप से कार्य करने वाला कोई भी कर्मचारी पकड़ा गया तो उस पर कार्रवाई होगी।

 

दबंग लोग कर सकते हैं घेराव :
रेलवे स्टेशन पर अवैध रूप से अपने 10-10  मजदूर लगाकर काम करने वाले दबंग  अपने काम को शुरू कराने के लिए पार्सल विभाग का घेराव भी कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक कुछ लोग लीज की आड़ में अपना कार्य करते थे लेकिन रेलवे की ओर से अवैध कर्मचारियों को हटाने के बाद इनके समान की लोडिंग न होने व मजदूरों को हटाने के कारण ये लोग बौखला गए हैं।  


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You