प्रणव ने असाधरण प्रतिभा के धनी बालकों को किया पुरस्कृत

  • प्रणव ने असाधरण प्रतिभा के धनी बालकों को किया पुरस्कृत
You Are HereNational
Monday, November 14, 2016-6:42 PM

नई दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आज बाल दिवस के अवसर पर कला,विज्ञान,शिक्षा,नवाचार, खेल और संगीत के क्षेत्र में असाधारण उपलब्धि हासिल करने वाले बालकों और बाल कल्याण के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले संस्थानों को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया।  मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में अयोजित समारोह में यह पुरस्कार प्रदान किए। ये पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिए गए पहला असाधारण उपलब्धियों के लिए व्यक्तिगत स्तर पर राष्ट्रीय बाल पुरस्कार, दूसरा बाल कल्याण के लिए व्यक्तिगत स्तर पर राष्ट्रीय पुरस्कार और तीसरा बाल कल्याण के लिए संस्थानों के स्तर पर राजीव गांधी मानव सेवा पुरस्कार। इस साल पुरस्कार पाने वालों में एक पैरालंपिक तैराक, शतरंज का एक खिलाड़ी, एक घुड़सवार, संगीत क्षेत्र और तकनीकी नवाचार करने वाले विद्यार्थी शामिल हैं। 

2016 में एक स्वर्ण पदक और 30 रजत पदक प्रदान किए गए
उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए राष्ट्रीय बाल पुरस्कार, 2016 में एक स्वर्ण पदक और 30 रजत पदक प्रदान किए गए। स्वर्ण पदक विजेता को 20,000 रुपये का चेक और रजत पदक विजेताओं को 10,000 रुपये के चेक दिए गए। ये पुरस्कार पांच से 18 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों और किशोंरों को प्रदान किए गए।   बाल कल्याण राष्ट्रीय पुरस्कार, 2015 पांच संस्थानों और तीन लोगों को दिया गया। इसके तहत संस्थान के लिए तीन लाख रूपये और प्रति व्यक्ति एक लाख रुपए की राशि प्रदान की गई। राजीव गांधी मानव सेवा पुरस्कार, 2016 तीन व्यक्तियों को दिया गया इसके तहत प्रति व्यक्ति एक लाख रुपए और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। 

इन बच्चों को दिए गए पदक
खेल के क्षेत्र में असाधारण उपलब्धियों के लिए बिहार की कुमारी रेवती को स्वर्ण पदक दिया गया। इसके साथ ही इस क्षेत्र में विशेष उपलब्धि के लिए अंश सजंय,अनुजय सिंधु विनयलाल,निहाल जे ,आदित्य मित्तल ,देवशाह, निहाल सरीन ,सीआर हर्षवर्धिनी,रक्षिता रवि,वंतिका अग्रवाल,चावी कोहिली और आर्यमन गुप्ता को भी पुरस्कृत किया गया। नवाचार के क्षेत्र में यह पुरस्कार पोथनुरी लारया,अभिषेख सहरिया,जुलिएका जूलियट,निर्झर नैनेश दवे,ध्रुति मेदोदो,एस ए शिवसूर्या,सोवेश महापात्रा,सुबेन्धु कुमार साहू,एम श्रीपद वैद्य,शिब ज्योति चौधरी,राजश्री चौधरी और आयुष निशेर को दिया गया। कला के क्षेत्र में ये राष्ट्रीय पुरस्कार पार्थसारथी जेना,सख्यक जैन,दीपक कुमार,अनुजथ सिंधु विनयलाल और अंशय संजय को मिला।

शिक्षा के क्षेत्र में पुरस्कृत होने वालों में मिलेन मनोज इरथ और स्तुति शीथल शामिल रहे। संगीत के क्षेत्र में यह पुरस्कार मिलेन मनोज ने हासिल किया।   बाल कल्याण के लिए उत्कृष्ट योगदान के लिए व्यक्तिगत स्तर पर यह राष्ट्रीय पुरस्कार 2015 चंडीगढ़ की संगीता वद्र्धन, केरल के के आर रवि और येसू यस और त्रिपुरा के बिकास रे को प्रदान किया गया। इस पुरस्कार से सम्मानित होने वाले संस्थानों में आंध्रप्रदेश की हेल्प सोसाइटी,नई दिल्ली की सोसाइटी फॉर प्रोमोशन फॉर यूथ एंड मासेस,झारखंड का बिरसा मुंडा अकादमी, महाराष्ट्र का कड्ल्स फाउंडेशन और युवा जागृति संस्थान शामिल रहा।  राष्ट्रीय पुरस्कारों में राजीव गांधी मानव पुरस्कार श्रेणी के तहत यह सम्मान बिहार के देवशनाथ दीक्षित तथा झारखंड की बंदना कुमारी को दिया गया। ड्ड


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You