डॉक्टरों की नियुक्ती को लेकर तेजस्वी ने स्वास्थ्य मंत्री पर कसा तंज

  • डॉक्टरों की नियुक्ती को लेकर तेजस्वी ने स्वास्थ्य मंत्री पर कसा तंज
You Are HereNational
Saturday, August 12, 2017-5:41 PM

नई दिल्ली: बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने एक अगस्त को अपने सरकारी आवास पर चार डॉक्टरों की नियुक्ति की जिसके बाद वह विवादों में घिर गए हैं। पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि मंत्री ने निजी कारणों से चार डॉक्टरों की स्थाई बहाली अपने सरकारी आवास पर कराई है। उन्होंने पूछा कि जब तेजप्रताप स्वास्थ्यमंत्री थे तो उनके आवास पर डॉक्टरों की नियुक्ति की गई थी तो बवाल मचा था। तेजस्वी ने स्वास्थ्य विभाग की उस चि_ी को भी सोशल मीडिया पर शेयर किया, जिसके जरिए इन डॉक्टरों की तैनाती के आदेश जारी किए गए हैं। तेजस्वी ने दूसरे ट्वीट में लिखा कि नीतीश जी का हजारों करोड़ का सृजन महिला घोटाला उजागर होने के बाद स्वास्थ्य मंत्री की हालत इतनी बिगड़ गई कि घर पर 4-4 डॉक्टर्स की तैनाती कर ली। 


गौरतलब है कि महागठबंधन सरकार के दौरान जब तेज प्रताप यादव स्वास्थ्य मंत्री थे, तब लालू प्रसाद यादव की देखभाल के लिए भी कुछ डॉक्टरों की तैनाती मंत्री के आवास पर की गई थी। उस वक्त विपक्षी दल भाजपा ने खूब हंगामा किया था। वहीं स्वास्थ्यमंत्री मंगल पांडेय ने इसपर सफाई देते हुए कहा कि मेरा ऑफिस अभी पूरी तरह तैयार नहीं है और किसी को भी मैंने नहीं एप्वाइंट नहीं किया और जब मैंने स्वास्थ्यमंत्री का पद संभाला तो जहां-तहां से लोग इलाज के लिए आते थे और मेरे ऑफिस पर आकर ठहरते थे तो मैंने अपने कर्मियों से बस यह पूछा था कि ऐसे में क्या करना चाहिए। इसीलिए लोगों की सहायता के लिए ही डॉक्टरों को बुलाया गया होगा ताकि बिमार लोगों को स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराया जा सके। 


उन्होंने बिहार में खराब स्वास्थ्य की स्थिति पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जब तेज प्रताप यादव बिहार के स्वास्थ्यमंत्री थे, जब राज्य में स्थिति भयानक थी। मैं जानता हूं कि बिहार में स्वास्थ्य विभाग की स्थिति क्या थी? लालू यादव के बड़े बेटे ने अपने शासन के दौरान विभाग को नष्ट कर दिया और यहां तक कि मरीजों को दवाएं उपलब्ध नहीं थीं। क्या लालू यादव ने इन सभी सवालों का जवाब दिया?
 

 

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You