'‘तुष्टिकरण' की नीति ने रोक रखा था माइनॉरिटी का सशक्तिकरण'

  • '‘तुष्टिकरण' की नीति ने रोक रखा था माइनॉरिटी का सशक्तिकरण'
You Are HereNational
Saturday, November 11, 2017-6:39 PM

जयपुरः केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मुसलमानों के पिछड़ने के लिए कथित धर्मनिरपेक्ष राजनेताओं की तुष्टिकरण की नीति को जिम्मेदार ठहराते हुये कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बिना तुष्टिकरण के मुसलमानों का विकास करने के लिए काम कर रहे है। राजस्थान हज कमेटी की ओर से हजयात्रा के पूर्ण होने के अवसर पर आयोजित समारोह में नकवी ने कहा कि कथित धर्मनिरपेक्ष राजनेताओं की तुष्टिकरण की नीति ने अल्प संख्यकों का पिछले कई दशक से शोषण कर उन्हें आर्थिक, शैक्षिक एवं सामाजिक रूप से पिछड़ा बना दिया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार गरीब, कमजोर और अल्पसंख्यकों का विकास कर उनमें विश्वास का वातावरण बना रही है। 

योजनाओं का सबसे ज्यादा अल्पसंख्यकों को मिला
उन्होंने कहा कि हमारी नीति गौरव के साथ विकास की है तथा अल्पसंख्यकों को मुख्यधारा के विकास में समान रूप से सहभादार बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री ने दावा किया कि भारत में अल्पसंख्यकों के सामाजिक, शैक्षिक और धार्मिक अधिकार विश्व के किसी भी देश से ज्यादा सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की गरीबों के उत्थान की योजनाओं में पिछले तीन साल में सबसे ज्यादा फायदा अल्पसंख्यकों को मिला है।

बनवाए गए 10 डिग्री कॉलेज और 809 स्कूल भवन 
मुख्तार अब्बास कहा कि 50 लाख से ज्यादा लोगों को पिछले तीन साल में रोजगार तथा रोजगार से जुड़ी योजनाओं से लाभ दिया गया है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अल्पसंख्यक युवाओं के लिए रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम चलाने वाले 100 गरीब नवाज स्किल डवलपमेंट सेंटर बनाए जा रहे है। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों के लिए 809 स्कूल भवन, 10 डिग्री कॉलेज, 371 हॉस्टल, 53 आईटीआई  और 269 बहुदेशीय सामुदायिक केन्द्र बनाए गए है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You