खूंखार हैं पर बोलते नहीं, चीर-फाड देते हैं अपराधी को

  • खूंखार हैं पर बोलते नहीं, चीर-फाड देते हैं अपराधी को
You Are HereNational
Wednesday, August 09, 2017-7:27 PM

जयपुर: राजस्थान पुलिस बेड़े के डॉग स्क्वाड में 9 माह पहले शामिल हुए 3 बेल्जियम शेफर्ड श्वान इन दिनों सवाई मानसिंह स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले कार्यक्रम के स्थल की चौकीदारी कर रहे हैं। अपराधियों पर खूंखार शिकारी की तरह हमला करने में ट्रेंड श्वानों को रात के समय खुला छोड़ दिया जाता है। ये उस घेरे की निगरानी रखते हैं,जहां किसी के भी प्रवेश पर अभी रोक है। सवाई मानसिंह स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस पर राज्य स्तरीय समारोह होगा।

स्टेडियम की सुरक्षा में भारी पुलिस बंदोबस्त तैनात किया गया है। सबसे अधिक निगरानी उस मैदान की है जहां कार्यक्रम होगा। इसमें प्रवेश पर रोक है। निगरानी के लिए दिन में तीन श्वान तैनात किए गए हैं। दिन में तैनात इन श्वानों को एंटी सबोटाज चैकिंग के काम में लिया जा रहा है।

इनके जरिए पकड़ा गया था ओसामा बिन लादेन
ये तीन श्वान उन 12 श्वानों में शामिल हैं जो पिछले वर्ष नवंबर में राजस्थान डॉग स्क्वाड में शामिल हुए थे। इन्हें बेंगलूरु में विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। छह साल पहले अमेरिका के नेवी सील कमांडो ने जिस बेल्जियम शेफर्ड श्वान की मदद से ओसामा बिन लादेन को पकड़ा था, ये भी उसी प्रजाति के हैं। जन्म के कुछ दिन बाद ही एक श्वान को 50 हजार रुपए में राजस्थान पुलिस में खरीदा था।

रात को रखा जाता खुला
रात के समय बेल्जियम शेफर्ड डॉग को खुला रखा जाता है। मैदान चारों तरफ से लोहे की जाली से घिरा हुआ है। वहां किसी के प्रवेश की इजाजत नहीं है। सुरक्षा के लिए जो जवान तैनात होते हैं उनसे पहले श्वानों का परिचय करा दिया जाता है। वे इस तरह दक्ष हैं कि परिचय कराने वाले जवानों के अतिरिक्त जो वहां प्रवेश करेगा,उस पर वे हमला कर देंगे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You