पानी की बूंद-बूंद को तरस रहे हैं बुद्धचढ़ई के लोग, चिनाब से पानी लाने को हैं मजबूर

  • पानी की बूंद-बूंद को तरस रहे हैं बुद्धचढ़ई के लोग, चिनाब से पानी लाने को हैं मजबूर
You Are HereNational
Saturday, August 12, 2017-3:21 PM

अखनूर: तसहील के बुद्धचढ़ई गांव के लोग पानी की एक-एक बूंद को तरस रहे हैं। ऐसा नहीं है कि गांव में टयूबवैल नहीं है बल्कि टयूबवैल नहीं होने के बावजूद लोगों को पीने का पानी नहीं मिल रहा है। आलम यह है कि लोग चिनाब अथवा दूर-दराज के हैंडपंप से पानी भरकर लाने को मजबूर हैं। लोगों को अपनी दिनचर्या के लिए जो पानी चाहिए वो पानी वे चिनाब से भरकर लाते हैं।


गांववासियों का कहना है कि पीएचई की सप्लाई के लिए सात कर्मी तैनात हैं लेकिन उनके डयूटी पर नहीं आने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। सिर्फ यही नहीं बल्कि जब लोग ज्यादा रोष जताते हैं तो कुछ दिनों के लिए सप्लाई को नियमित कर दिया जाता है और बाद में फिर वही हाल हो जाता है। लोगों को एक महीने से ज्यादा का समय हो गया है लोगों को पीने का पानी नहीं मिल रहा है। लोग पानी को तरस रहे हैं।


शिकायत के बावजूद नहीं हुआ असर
लोगों का आरोप है कि उन्होंने जूनियर इंजीनियर से शिकायत की पर उनकी समस्या हल नहीं हुई है। लोगों की परेशानी वैसी की वैसी बनी हुई है। लोगों ने असिस्टेंट एग्जिक्यूटिव इंजीनियर आर पी सेठी के कार्यालय जाकर भी शिकायत की और इलाके में तैनात कर्मियों को हटाने की मांग की है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You