Subscribe Now!

महिलाओं के खिलाफ हिंसा में जम्मू कश्मीर भी नहीं पीछे, 2017 में दर्ज हुए हैं 3,168 मामले

  • महिलाओं के खिलाफ हिंसा में जम्मू कश्मीर भी नहीं पीछे, 2017 में दर्ज हुए हैं 3,168 मामले
You Are HereNational
Tuesday, January 16, 2018-8:04 PM

जम्मू: अगर बात महिलाओं के खिलाफ हिंसा की है तो जम्मू कश्मीर भी इस मामले में कोई पीछे नहीं है। स्वयं राज्य सरकार ने इस बात का खुलासा किया है कि वर्ष 2017 में ही महिलाओं के खिलाफ अपराध के 3,168 मामले दर्ज किए गए हैं। यह मामले 2016 के मुकबाले ज्यादा है। 2016 में 2,195 मामले दर्ज किये गये थे। इस बात का खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि जम्मू कश्मीर की पहली महिला मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने विधानसभा में किया।


महबूबा पीडीपी एमएलए अंजुम फाजली के प्रश्र का जवाब दे रहीं थीं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 3,168 मामले दर्ज किए गए जिनमें 3,957 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इन मामलों में रेप, छेड़छाड़, गैंग रैप, अपहरण, आत्महत्या और दहेज जैसे सारे मामले शामिल हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017 के अंत तक अपराधियों के खिलाफ 11,945 मामले अंडर ट्रायल हैं। सीएम ने स्वयं इस बात को स्वीकार किया महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों में बढ़ोत्तरी हुई है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा हेतु कई कदम उठाये जा रहे हैं और इस दिशा में और 6 महिला पुलिस स्टेशन भी स्थापित किए गए जबकि पांच पुलिस स्टेशन और सेंक्शन किये गये हैं।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You