दिन-दिहाड़े युवक मर्डर केस में 4 अलग-अलग चार्जशीट दायर

  • दिन-दिहाड़े युवक मर्डर केस में 4 अलग-अलग चार्जशीट दायर
You Are HereChandigarh
Thursday, November 24, 2016-12:47 AM

चंडीगढ़, (बृजेन्द्र ): सैक्टर-25 में दिन-दिहाड़े 18 वर्षीय युवक की भरे बाजार में चाकू व स्लैगर से हमला कर हत्या करने के मामले में 4 बालिग आरोपियों के खिलाफ सैक्टर-11 थाना पुलिस ने 4 अलग-अलग चार्जशीट दायर कर दी हैं। जिन 4 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई है उनमें सैक्टर-25 कलोनी के विकास उर्फ पुलसिया समेत रोहित, आकाश और राजू शामिल हैं। पुलिस ने चार्जशीट में घटनास्थल पर लगे सी.सी.टी.वी. कैमरे की फुटेज भी अटैच की है जिसमें आरोपी संबंधित वारदात को अंजाम देते नजर आ रहे हैं। वहीं पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से बरामद स्लैगर, चाकू और पंच को भी केस प्रापर्टी के रूप में रखा है। मामले में कुल 21 गवाह बनाए गए हैं। जिनमें घटना को कोर्ट में साबित करने के लिए 2 गवाह मौके के चश्मदीद के रूप में रखे गुए हैं।

इसके अलावा आरोपियों की उम्र साबित करने के लिए सैक्टर-25 व सैक्टर 38 के हैड मास्टर्स को भी गवाह बनाया है। इससे पहले जुवेनाइल कोर्ट में 5 नाबालिग आरोपियों के खिलाफ पहले ही चार्जशीट दायर की जा चुकी है। थाना पुलिस ने हथियारों समेत दंगा करने और हत्या की धारा में गत 4 अगस्त को यह केस दर्ज किया था। जानकारी के मुताबिक मामले में कुल 9 आरोपियों में से 5 जमानत पर बाहर हैं। 
घटना:
 संबंधित हमले में कालोनी के विकास नामक युवक की हत्या कर दी थी। शाम करीब 6 बजे बाजार के बीचों-बीच भीड़भाड़ में घटी घटना सी.सी.टी.वी. कैमरा में भी कैद हो गई थी। पुलिस ने मामले में 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया था जिनमें से 3 नाबालिग बताए गए थे। विकास किसी अपराधी मामले में घटना से कुछ दिन पहले की जेल से बाहर आया था। आरोप के मुताबिक पुरानी रंजिश के चलते हत्या कर दी थी। 
खुद को नाबालिग बता कोर्ट में दायर की अर्जी:

मामले में जिन 4 बालिग आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई है उनमें से रोहित और आकाश ने खुद को नाबालिग बताते हुए अर्जी दायर की है। इस पर पुलिस को कोर्ट ने नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। जानकारी के मुताबिक रोहित ने बर्थ सर्टीफिकेट को आधार बनाया है जबकि आकाश ने गांव पंचायत द्वारा जन्म को लेकर जारी दस्तावेज को साक्ष्य बताया है। सैक्टर-24 चौकी प्रभारी एस.आई. रोहताश ने बताया कि इससे पहले कोर्ट इन चारों को बालिग घोषित कर चुकी थी। उस दौरान भी आरोपियों ने खुद के नाबालिग होने का दावा किया था हालांकि कोई सबूत पेश नहीं कर पाए थे। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You