युवराज की शादी को लोग सालों याद रखेंगे: योगराज

  • युवराज की शादी को लोग सालों याद रखेंगे: योगराज
You Are HereChandigarh
Thursday, November 24, 2016-12:52 AM

चंडीगढ़, (नेहा): शादी समारोह में खर्च उतना ही करना चाहिए जितना जरूरी है। फिजूल खर्ची की जरूरत नहीं। यह कहना है क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह का। वह चाहते हैं कि युवराज की शादी साधारण परंतु खास तरीके से संपन्न हो। योगराज के मुताबिक इस बारे में वह युवराज से भी बात कर चुके हैं, हालांकि आखिरी फैसला युवराज और हेजल का ही होगा। 25 नवम्बर को रिलीज होने वाली फिल्म ‘कच्चे धागे’ की प्रोमोशन के दौरान चंडीगढ़ में हुए एक कार्यक्रम के दौरान योगराज सिंह ने यह बात कही। 

शादी को सालों याद रखेंगे लोग:
युवराज की शादी को लोग सालों याद रखेंगे, हर कोई जो युवी से प्यार करता है इस शादी में आमंत्रित है। शादी शादी नहीं पर खुद में अद्भुत होगी। बकौल योगराज उन्हें किसी को कार्ड देकर आमंत्रित करना बिल्कुल पसंद नहीं। उन्होंने कहा कि मैं सामने वाले से मिलकर हाथ जोड़ विनती करूंगा कि आप युवी की शादी में आशीर्वाद देने पहुंचे। उन्होंने कहा कि हर वह शख्स जो युवी को चाहता है और उसे आशीर्वाद देना चाहता है वह शादी में आमंत्रित है। 

अगर कोई लाठी लेकर देश सुधारना चाहता है तो मैं साथ हूं: 
नोटबंदी के बाद शादी की तैयारियों में आ रही मुश्किलों के सवाल पर योगराज ने कहा कि उन्हें कोई मुश्किल नहीं आ रही। अगर कहीं कोई दिक्कत है भी तो देश के सामने कुछ भी नहीं। युवराज की शादी जैसे सोची गई थी वैसे ही होगी। 

शादी टूटने की वजह बच्चों का परिपक्व न होना :
योगराज सिंह के मुताबिक शादी हमेशा तब करनी चाहिए जब आप इसके लिए शादी के लिए तैयार हों। मेरा मानना है कि भारतीय संस्कृति में ये बदलाव आना जरूरी है कि बेटी 22 की या बेटा 26 का हो गया तो शादी कर दो। परिपक्वता उम्र से नहीं दिमाग से आती है। योगराज के मुताबिक जब पहली बार युवराज और हैजल मेरे पास आए थे उसी दिन मैंने उन्हें बाबा जी का आशीर्वाद दिलवा के हेजल को बहू मान लिया था।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You