यमुनानगर (भारद्वाज) : जगाधरी के शांति कालोनीवासी गंदगी की समस्या से बेहद परेशान हैं। जगह-जगह नालियां जाम पड़ी हैं जिनमें मक्खी-मच्छर आदि की भरमार है। नालियों में जमा हुए गंदे पानी से बदबू फैलकर वातावरण को दूषित कर रही है। गंदगी के कारण इस क्षेत्र के घर-घर में लोग बीमार पड़े हुए हैं जिन्हें अनेक बीमारियों ने अपनी चपेट में लिया है। कालोनी वासी जसबीर, सोनू, हरिओम, अति, दिनेश, मजनू, सुदेश, आबिदा, संतोष, पूनम, बबली, सविता आदि ने बताया कि उनकी कालोनी में साफ सफाई का बुरा हाल है जिस कारण लोग बीमार हो रहे हैं। अभी हाल ही में उनकी कालोनी को 60 वर्षीय छन्दो, 30 वर्षीय अनिल सैनी, 50 वर्षीय पवन तथा 45 वर्षीय शिवम को डेंगू हो गया जिन्हें ट्रामा सैंटर में भर्ती करवाया गया है लेकिन चन्दो नामक महिला को पी.जी.आई. रैफर कर दिया गया।


इसी प्रकार कालोनी के लगभग प्रत्येक घर में कोई वायरल, बुखार तथा कहीं मलेरिया का मरीज पाया गया है। कालोनी वासियों का आरोप है कि सफाई कर्मचारी कभी-कभी आते हैं और नालियों में से कचरा उठाकर नाली के पास फैंक देते हैं। यह गंदा कचरा सूख कर हवा द्वारा उनके घरों में पहुंच जाता है जिससे कि वातावरण तो खराब होता है। निगम के सफाई कर्मचारी इन प्लाटों में पड़ी गंदगी की तरफ ध्यान नहीं देते। निगम के अधिकारियों को चाहिए कि खाली पड़े प्लाटों के मालिकों को निर्देश दिए जाएं कि अपने प्लाटों को भी साफ-सुथरा रखें। कालोनी वासियों की मांग है कि उनके क्षेत्र में गंदगी से भरी नालियों को जल्द से जल्द साफ करवाया जाए ताकि लोगों में फैल रही बीमारियों पर रोक लग सके। 


सड़कों पर बह रहा है गंदा पानी  यमुनानगर के पास इलाके वार्ड नंबर- 8 माडल टाऊन में नालियों में गंदगी भर जाने के कारण नालियां जाम हो गईं। गंदा पानी ओवरफ्लो होकर सड़कों पर आ गया। थाना शहर यमुनानगर के सामने स्कूल की ओर जाने वाली सड़क पर गंदे पानी के ओवरफ्लो होने के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्रवासी करोड़ीमल, मान सिंह कोहली, मानव बजाज, बाली, बलदेव राज, वेद प्रकाश मेहता, अवतार सिंह आदि ने बताया कि पिछले 5 महीने से उनके घरों के आगे बनी नालियों में गंदगी भरी पड़ी है।

सफाई कर्मचारी आते हैं तो केवल ऊपर से सफाई करके चले जाते हैं। इन नालियों में भरे कचरे के ऊपर मच्छरों की भरमार हो गई है। अब तो यह गंदा पानी नालियों से निकल कर सड़क पर आ गया है जिसमें से भयंकर बदबू फैल रही है। क्षेत्रवासियों का आरोप है कि उनके क्षेत्र में 2 डेयरियां बनी हुई हैं जहां से गोबर नालियों में बहा दिया जाता है और इसी कारण से नालियां गंदे पानी से भर जाती हैं। क्षेत्रवासियों की मांग है कि जल्द से जल्द उनकी समस्या को दूर करवाया जाए।


क्या कहते हैं नगरनिगम के ई.ओ. इस संबंध में जब नगरनिगम के ई.ओ. विजय पाल यादव से बात की गई तो उन्होंने बताया कि वैसे तो साफ-सफाई का पूरा ख्याल रखा जा रहा है फिर भी यदि कहीं कोई शिकायत है तो उसे तुरंत दूर करवा दिया जाएगा।