<

आशुतोष महाराज के पूर्व चालक ने प्रशासन से पोस्टमार्टम की मांग की

  • आशुतोष महाराज के पूर्व चालक ने प्रशासन से पोस्टमार्टम की मांग की
You Are HerePunjab
Tuesday, February 25, 2014-7:27 PM

जालंधर: दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के मुखी आशुतोष महाराज के पूर्व चालक ने आज प्रशासन से महाराज के पोस्टमार्टम की मांग की है। चालक पूर्ण सिंह ने जांलधर के जिलाधीश को दी अर्जी में मांग की है कि आशुतोष महाराज को सदिग्ध अवस्था में 29 जनवरी को
क्लीनिकली मृत घोषित कर दिया गया था। पंजाब सरकार द्वारा भी अपनी स्टेटस रिपोर्ट में महाराज को मृत करार दिया गया था।

पूर्ण सिंह का कहना है कि महाराज एक हजार करोड़ से भी ज्यादा की संम्पति के मालिक थे ऐसे में संदिग्ध मौत पर उनका पोस्टमार्टम करवाया जाए और अगर कुछ संदिग्ध लगे तो कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। पूर्ण सिंह ने अपनी अर्जी में कहा है कि उसने महाराज के साथ 1988 से 1992 तक काम किया है ऐसे में उसे हक है कि वह ऐसी मांग कर सकता है।

उसने कहा कि महाराज तंदरूस्त थे अचानक उनकी मौत होना शंका पैदा करता है। बिना पोस्टमार्टम के सच्चाई सामने नही आ सकती। आरोप लगाया है कि अरबिंदा नंद मोहनपुरी और सर्वदानंद सभी आश्रम में रह रहे थे। उन्होने महाराज को एक फ्रिज में बंद कर रखा है और किसी को भी उससे मिलने नही दिया जा रहा है। यह सब वह सम्पति के लालच में कर रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You